विशेषज्ञों को चीन आने की मंजूरी देने में देरी से ‘‘निराश’’ है डब्ल्यूएचओ

जिनेवा,  विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख ने मंगलवार को कहा कि वह इस बात से बेहद ‘‘ निराशा ’’ हैं कि चीनी अधिकारियों ने कोविड-19 की उत्पत्ति की जांच करने के लिए विशेषज्ञों की एक टीम को चीन आने की अंतिम मंजूरी अभी तक नहीं दी है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के महानिदेशक टेड्रोस अधानोम ने कहा कि डब्ल्यूएचओ और चीनी सरकार के बीच हुई बातचीत में तय हुए कार्यक्रम के तहत अंतरराष्ट्रीय वैज्ञानिकों के दल के सदस्य पिछले 24 घंटे में अपने-अपने देशों से रवाना हुए।

ट्रेडोस ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘ आज, हमें पता चला कि चीनी अधिकारियों ने दल को चीन में प्रवेश करने के लिए आवश्यक मंजूरी नहीं दी है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ मैं इस खबर से बेहद निराश हूं, दो लोग रवाना हो गए थे और बाकी सदस्यों को अंतिम क्षण में यात्रा नहीं करने दी गई, हालांकि वे चीन के वरिष्ठ अधिकारियों के सम्पर्क में हैं।’’

ट्रेडोस ने कहा कि उन्होंने यह ‘‘स्पष्ट कर दिया’’ था कि यह मिशन संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी की प्राथमिकता है और उन्हें यह ‘‘ आश्वासन दिया गया था कि चीन इसके लिए आंतरिक प्रक्रियाओं को तेजी से पूरा कर रहा है’’।

उन्होंने कहा, ‘‘ हम जल्द से जल्द मिशन शुरू करना चाहते हैं।’’

विश्वभर के विशेषज्ञों के वुहान पहुंचने की संभावना है, जहां एक साल पहले कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आया था।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के आपात कार्यक्रमों के प्रमुख माइकल रेयान ने कहा कि विशेषज्ञों को मंगलवार से वहां पहुंचना था, लेकिन उन्हें वीज़ा सहित अन्य आवश्यक मंजूरी नहीं दी गई है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख ने वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से पिछले साल मुलाकात की थी।