अमेरिका ने अंतरिक्ष प्रक्षेपण यान में ठोस ईंधन के इस्तेमाल की मंजूरी दी: दक्षिण कोरिया

सियोल,  दक्षिण कोरिया ने मंगलवार को कहा कि अमेरिका उसे अंतरिक्ष प्रक्षेपण यान में ठोस ईंधन के इस्तेमाल की मंजूरी देने के लिए सहमत हो गया है।

इस कदम से अब सियोल के अपने पहले निगरानी उपग्रहों को लॉन्च करने और अधिक शक्तिशाली मिसाइल के निर्माण के लिए प्रौद्योगिकी हासिल करने में सक्षम होने की संभावना है।

ठोस ईंधन मिसाइल और रॉकेट को अधिक गतिशीलता प्रदान करता है और लॉन्च की तैयारी में लगने वाले समय को भी कम करता है। अमेरिका ने सियोल पर इसके इस्तेमाल पर रोक लगा रखी थी। उसे चिंता थी कि सियोल इसका इस्तेमाल बड़ी मिसाइल बनाने के लिए कर सकता है और इससे क्षेत्र में हथियार की दौड़ शुरू हो सकती है।

दक्षिण कोरियाई सरकार ने मंगलवार को कहा कि इस तरह के प्रतिबंधों को हटाने के लिए सियोल और वाशिंगटन संबंधित द्विपक्षीय मिसाइल दिशानिर्देशों को संशोधित करने पर सहमत हुए हैं।

उप राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार किम ह्यून चोंग ने पत्रकारों से कहा कि सभी दक्षिण कोरियाई अनुसंधान संस्थान, कम्पनियां और व्यक्ति अब ठोस ईंधन के इस्तेमाल से अंतरिक्ष प्रक्षेपण रॉकेट विकसित करने, उत्पादन करने और रखने के लिए स्वतंत्र है।