ट्रंप ने लगभग हार मानी, बाइडेन को सत्ता हस्तांतरित करने के लिए तैयार

न्यूयॉर्क,  । अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जो बाइडन से लगभग हार मान ली है और डेमोक्रेटिक प्रशासन को सत्ता हस्तांतरित करने पर सहमति भी जता दी है, हालांकि उन्होंने दावा किया कि 3 नवंबर के चुनाव के अंतिम विजेता वही होंगे।

सोमवार शाम को एक ट्वीट में, ट्रंप ने कहा कि उन्होंने जनरल सर्विसेज एडमिनिस्ट्रेशन के प्रमुख एमिली मर्फी को बाइडेन के साथ सहयोग करने के लिए कहा है ताकि बाइडेन के अमेरिका का 46वां राष्ट्रपति बनने के लिए ट्रांजिशन का काम सुचारु रूप से हो सके।

मीडिया द्वारा बाइडेन को चुनाव का विजेता घोषित किए जाने के 16 दिन बाद यह घोषणा की गई।

हालांकि, मर्फी ने इनकार किया कि उन्होंने ट्रंप के इशारे पर सहयोग करने का निर्णय लिया।

अपने पत्र में बाइडेन के साथ काम करने की पेशकश करते हुए, उन्होंने लिखा, मैंने कानून और उपलब्ध तथ्यों के आधार पर स्वतंत्र रूप से अपना फैसला लिया है। मेरे निर्णय के संदर्भ में मुझ पर प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से किसी भी कार्यकारी शाखा के अधिकारी द्वारा दबाव नहीं डाला गया- जिसमें व्हाइट हाउस या जीएसए में काम करने वाले लोग भी शामिल हैं।

बाइडेन ट्रांजिशन के कार्यकारी निदेशक योहानेस अब्राहम ने इस घोषणा का स्वागत करते हुए कहा, यह हमारे देश के सामने आने वाली चुनौतियों से निपटने के लिए आवश्यक कदम है, जिसमें महामारी को नियंत्रण में लाना और हमारी अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाना शामिल है।

बाइडन द्वारा कैबिनेट के प्रमुख नामों का ऐलान करने, जिसमें विदेश मंत्री के पद के लिए एंटनी ब्लिंक्ड का नाम शामिल हैं, के बाद ट्रंप ने घोषणा की है कि वह ट्रांजिशन के लिए बाइडेन के साथ सहयोग करेंगे।

ट्रंप ने ट्वीट किया, अपने देश के सर्वोत्तम हित में, मैं एमिली और उनकी टीम से वो करने के लिए कह रहा हूं जो प्रारंभिक प्रोटोकॉल के संबंध में करने की जरूरत है और अपनी टीम से भी मैंने ऐसा ही करने के लिए कहा है।

लेकिन उन्होंने औपचारिक रूप से अपने आधार के लिए आशा की एक टिमटिमाती लौ को जीवित रखते हुए हार को स्वीकार नहीं किया, उन्होंने ट्वीट में कहा, हमारा मामला मजबूत है, हम अच्छी तरह से लड़ाई जारी रखेंगे, और मुझे विश्वास है कि हम जीतेंगे।

गौरतलब है कि बाइडेन ने चेतावनी दी थी कि अगर ट्रांजिशन प्रक्रिया में देरी होती है तो कोरोना से और ज्यादा लोग संक्रमित हो सकते है और मौतें हो सकती हैं और उनके आगामी प्रशासन के लिए पहले दिन से कोरोना के खिलाफ कदम उठाने में बाधा आएगी।