ब्रिस्बेन में तीन दिन के लॉकडाउन से चौथे टेस्ट मैच पर मंडराये आशंका के बादल

सिडनी,   भारत और आस्ट्रेलिया के बीच चौथा और अंतिम टेस्ट मैच ब्रिस्बेन में कराने के लिये बेताब क्रिकेट आस्ट्रेलिया की क्वीन्सलैंड प्रांत की राजधानी में तीन दिन के नये लॉकडाउन के कारण परेशानियां बढ़ गयी हैं।

भारत और आस्ट्रेलिया के शीर्ष क्रिकेट अधिकारियों के बीच ब्रिस्बेन में मेहमान टीम को कड़े पृथकवास नियमों से छूट दिये जाने के बारे में बातचीत होने के 24 घंटे से भी कम समय में लॉकडाउन की घोषणा की गयी। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार चौथा टेस्ट 15 जनवरी से गाबा में खेला जाना है।

सिडनी मार्निंग हेरल्ड की रिपोर्ट के अनुसार, ‘‘क्रिकेट आस्ट्रेलिया के अधिकारी तीन दिवसीय लॉकडाउन के कारण अगले सप्ताह से गाबा में शुरू होने वाले चौथे टेस्ट मैच पर पड़ने वाले प्रभाव का आकलन करने की कोशिश कर रहे हैं। भारत के कड़े जैव सुरक्षा नियमों के कारण ब्रिस्बेन में खेलने को लेकर हिचकिचाहट से पहले ही इस मैच पर आशंका के बादल मंडरा रहे थे। ’’

इसमें कहा गया है, ‘‘होटल में पृथकवास पर रह रहे एक कर्मचारी के कोविड-19 के अधिक संक्रामक और ब्रिटेन में पाये गये नये प्रकार के लिये पॉजीटिव पाये जाने के कारण क्रिकेट आस्ट्रेलिया की बोर्डर-गावस्कर ट्राफी का समापन गाबा में करने की उम्मीदों को झटका लगा है। ’’

क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने पहले ही 36000 दर्शकों को आने की अनुमति दे दी थी लेकिन बदली परिस्थितियों में इसमें बदलाव हो सकता है।

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने गुरुवार को क्रिकेट आस्ट्रेलिया को ब्रिस्बेन में पृथकवास कड़े नियमों से छूट दिलाने के लिये लिखा था। बीसीसीआई ने उसका ध्यान इस तरफ भी दिलाया कि भारतीय टीम ने दौरे के शुरू में सहमति के अनुसार कड़े पृथकवास नियमों का पालन किया था।

ब्रिस्बेन में पृथकवास नियमों के अनुसार खिलाड़ियों को दिन के खेल के बाद अपने होटल के कमरों तक ही सीमित रहना होगा।

क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने भारत को मौखिक आश्वासन दिया है कि क्वीन्सलैंड सरकार के साथ एक समझौता हुआ है जिसके अनुसार खिलाड़ी और सहयोगी स्टाफ होटल के अंदर एक दूसरे से मिल सकते हैं लेकिन पता चला है कि भारतीय बोर्ड लिखित आश्वासन चाहता है।

अगर चौथा टेस्ट मैच ब्रिस्बेन में नहीं हो पाता है तो फिर इस मैच का आयोजन सिडनी में ही किया जा सकता है।