जिन राष्ट्रों ने आक्रांताओं का सामना किया, वही सुरक्षित रहे : पीएम मोदी

नई दिल्ली,   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, इस बार राजस्थान के जैसलमेर के लोंगेवाला सीमा पर मुस्तैद जवानों के साथ दीवाली मनाने पहुंचे। लोंगेवाला सीमा पर शनिवार को दीवाली के मौके पर प्रधानमंत्री मोदी का पहुंचना इसलिए भी खास है कि यहां 1971 की लड़ाई में महज 120 भारतीय सैनिकों ने पाकिस्तान की कई टैंक टुकड़ियों को उड़ा दिया था।

इस दौरान जवानों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि दुनिया का इतिहास हमें ये बताता है कि केवल वही राष्ट्र सुरक्षित रहे हैं, वही राष्ट्र आगे बढ़े हैं जिनके भीतर आक्रांताओं का मुकाबला करने की क्षमता थी।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज का ²श्य देखें, भले ही इंटरनेशनल सहयोग कितना ही आगे क्यों न आगे आ गया हो, समीकरण कितने ही बदल क्यों न गए हों, लेकिन हम कभी नहीं भूल सकते कि सतर्कता ही सुरक्षा की राह है, सजगता ही सुख-चैन का संबल है। सामथ्र्य ही विजय का विश्वास है, सक्षमता से ही शांति का पुरस्कार है। सजगता ही सुख-चैन का संबल है। सक्षमता से ही शांति मिलती है। भारत सुरक्षित है, क्योंकि उसके पास अपनी सुरक्षा करने की शक्ति है।

प्रधानमंत्री मोदी ने जवानों से कहा, मैं आज आपके बीच प्रत्येक भारतवासी की शुभकामनाएं लेकर आया हूं। आपके लिए प्यार लेकर आया हूं। आशीष लेकर आया हूं। मैं आज उन वीर माताओं-बहनों और बच्चों को भी दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं, उनके त्याग को नमन करता हूं, जिनके अपने सरहद पर हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, आप भले बफीर्ली पहाड़ियों पर रहें या फिर रेगिस्तान में, मेरी दीवाली तो आपके बीच आकर ही पूरी होती है। आपके चेहरों की रौनक देखता हूं, आपके चेहरे की खुशिया देखता हूं, तो मुझे भी दोगुनी खुशी होती है।