संत देव प्रभाकर शास्त्री ‘दद्दाजी’ की अस्थियां संगम में विसर्जित

प्रयागराज,   ‘दद्दाजी’ के नाम से जाने जाने वाले आध्यात्मिक गुरु एवं संत देव प्रभाकर शास्त्री की अस्थियां बुधवार को यहां संगम में विसर्जित की गईं।

अस्थि विसर्जन के दौरान फिल्म अभिनेता आशुतोष राणा, राजपाल यादव और उद्योगपति संजय पाठक सहित बड़ी संख्या में दद्दा जी के अनुयायी मौजूद थे।

संगम में अस्थि विसर्जन के बाद आशुतोष राणा ने कहा, “मैं परमपूज्य दद्दा जी के सानिध्य में 1984 से हूं। आज आप आशुतोष राणा को जिस रूप में देख रहे हैं, वह गुरुदेव दद्दा जी की कृपा का ही परिणाम है।”

उन्होंने कहा कि दद्दाजी जैसे संत देहत्याग के बाद ’’अपने शिष्यों के आचार-विचार और व्यवहार में सदैव विद्यमान’’ रहते हैं।

दद्दा शिष्य मंडल के वरिष्ठ सदस्य संतोष उपाध्याय ने बताया कि दद्दा जी की अस्थियां उनके बड़े बेटे डॉक्टर अनिल त्रिपाठी, मझले बेटे डॉ. सुनील त्रिपाठी और सबसे छोटे बेटे नीरज त्रिपाठी ने विसर्जित कीं। दद्दा जी का निधन 17 मई को हुआ था।