अभी भी क्लाइमेट जस्टिस के लिए लड़ रही हूं : दिशा रवि

बेंगलुरु,  । कथित टूलकिट मामले में दिल्ली पुलिस द्वारा अपनी गिरफ्तारी के एक महीने बाद, 22 वर्षीय जलवायु कार्यकर्ता दिशा ए. रवि ने शनिवार को अपने ट्विटर अकाउंट पर अपने चार पेज के बयान पोस्ट किए।

अपने बयान में यह कहते हुए कि वह अभी भी जलवायु न्याय (क्लाइमेट जस्टिस) के लिए लड़ रही हैं। उन्होंने कहा कि उनकी स्वायत्तता का उल्लंघन तब हुआ जब उनकी तस्वीरें केवल टीआरपी के लिए सभी समाचार चैनलों पर दिखाई गईं।

उन्होंने कहा कि टीआरपी, रेटिंग के भूखे चैनलों ने उन्हें अपराधी ठहरा दिया।

किसानों के विरोध को समर्थन देने वाले एक ऑनलाइन दस्तावेज के सिलसिले में दिल्ली पुलिस ने 13 फरवरी शुक्रवार देर रात उन्हें बेंगलुरु स्थित उनके आवास से देर रात गिरफ्तार किया था। हालांकि, 10 दिन बाद, उन्हें दिल्ली की एक अदालत ने जमानत दे दी थी।

अपने चार पेज के बयान के साथ, उन्होंने ट्विटर पर यह भी लिखा है कि मैं अपनी कहानी जो मेरा अपना है, उेस पेश कर रही हूं।

उन्होंने कोर्ट ट्रायल के अनुभव का जिक्र करते हुए ट्विटर पर लिखा, यह मेरे व्यक्तिगत अनुभव पर आधारित है और किसी भी जलवायु आंदोलन, समूह, या संगठन की राय का प्रतिनिधित्व नहीं करता है।