चार यात्रियों को लेकर स्पेसएक्स का कैप्सूल अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन पहुंचा

केप केनावेरल (अमेरिका),  स्पेसएक्स का नया कैप्सूल चार अंतरिक्ष यात्रियों को लेकर सोमवार रात में अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन पहुंच गया। ये अंतरिक्ष यात्री बसंत के मौसम तक यहीं रहेंगे।

ड्रैगन कैप्सूल ने नासा के केनेडी अंतरिक्ष केंद्र से उड़ान भरी और 27 घंटे की यात्रा के बाद यह सोमवार रात को अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र में सफलतापूर्वक पहुंच गया।

ड्रैगन कैप्सूल के कमांडर माइक हॉप्किन्स ने जब अंतरिक्ष स्टेशन पर मौजूद यात्री केट रूबिन्स से पहली बार रेडियो के जरिए संपर्क साधा तो रूबिन्स ने कहा, ‘‘वाह, कितनी प्यारी आवाज सुनने को मिली। हम आपकी प्रतीक्षा कर रहे हैं।’’

यह स्पेसएक्स का दूसरा अंतरिक्ष मिशन है लेकिन पहली बार एलन मस्क की कंपनी ने पूरे छह महीने के लिए यात्रियों को अंतरिक्ष में भेजा है। इससे पहले का मिशन दो महीने का था।

इन नए यात्रियों में कमांडर माइक हॉप्किन्स और उनके चालक दल के सदस्य विक्टर ग्लोवर (जो अंतरिक्ष स्टेशन पर पूरे छह महीने बिताने वाले पहले अफ्रीकी-अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री होंगे), शैनन वॉकर और जापानी अंतरिक्ष यात्री सोइची नोगुची शामिल हैं।

इस ‘ड्रैगन’ कैप्सूल यान को इसके चालक दल के सदस्यों ने 2020 में दुनियाभर में आई चुनौतियों को देखते हुए ‘रेसिलियंस’ नाम दिया है। अंतरिक्षयात्रियों ने सोमवार को लोगों को कैप्सूल के भीतर के दृश्यों को भी दिखाया। उन्होंने टचस्क्रीन कंट्रोल और यहां सामान रखने वाले क्षेत्रों को दिखाया।

स्पेसएक्स के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी एलन मस्क को रविवार को इसके प्रक्षेपण से अलग ही रहना पड़ा। उन्होंने एक ट्वीट में बताया था कि उनके कोरोना वायरस से ‘संक्रमित होने की आशंका है।’

इस प्रक्षेपण से अमेरिका और अंतरिक्ष स्टेशन के बीच चालक दल के सदस्यों के बारी-बारी से आने जाने की लंबी श्रृंखला की शुरुआत होगी।