दक्षिण अफ्रीका की भारत से दक्ष लोगों को आकर्षित करने और पर्यटन को बढ़ावा देने की योजना

जोहानिसबर्ग,  दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा ने कहा है कि भारत उन देशों में शामिल है, जिन पर उनका देश कोरोना वायरस संक्रमण के कारण पैदा हुए आर्थिक संकट से उबरने के लिए दक्ष लोगों को आकर्षित करने और पर्यटन को बढ़ावा देने की उम्मीद कर रहा है।

राष्ट्रपति ने बृहस्पतिवार शाम को देश के नाम अपने संबोधन में यह बात कही।

उन्होंने कहा,‘‘ हमारे वीजा और आव्रजन क्षेत्र में सुधार के लिए संबद्ध विभागों के साथ मिल कर काम चल रहा है, ताकि कौशल को आकर्षित किया जा सके और पर्यटन को विकसित किया जा सके।’’

राष्ट्रपति ने कहा,‘‘ अंतरराष्ट्रीय परिवहन के शुरू होने पर हम चीन, भारत, नाइजीरिया, केन्या और दस अन्य देशों से लोगों को पर्यटन के लिए आकर्षित करने के वास्ते ई-वीजा कार्यक्रम शुरू करेंगे।’’

दक्षिण अफ्रीका में 150 से ज्यादा भारतीय कंपनियां मौजूद हैं और व्यापक क्षेत्रों में कौशल विकास में योगदान दे रही हैं। टाटा समूह और ऑटोमोटिव निर्माता महिंद्रा कौशल हस्तांतरण के क्षेत्र में अग्रणी रहे हैं।

पर्यटन के संदर्भ में भारत उन देशों में से एक है जहां से बड़ी संख्या में पर्यटक दक्षिण अफ्रीका आते हैं।

अपने संबोधन में राष्ट्रपति ने कहा कि वैश्विक महामारी को मात देना देश की पहली प्राथमिकता है। इसके साथ ही उन्होंने देश के पहले चरण के टीकाकरण कार्यक्रम का भी ब्योरा दिया। पहले चरण में स्वास्थ्यकर्मियों और अग्रणी मोर्चे के अन्य कर्मचारियों का टीकाकरण किया जाएगा।