रूसी विदेश मंत्री ने नागोर्नो-काराबाख युद्धविराम वक्तव्य पर सवाल को खारिज किया

मॉस्को,  । रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने विवादित नागोर्नो-काराबाख क्षेत्र के आसपास केंद्रित एक त्रिपक्षीय युद्धविराम के वक्तव्य पर संदेह को खारिज कर दिया है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, शनिवार को लावरोव ने एक ब्रीफिंग के दौरान कहा कि युद्धविराम बयान के क्रियान्वन से संबंधित मुद्दों पर आर्मेनियाई नेतृत्व के साथ बैठक में पूरी तरह से चर्चा हुई, जिसमें रूसी शांति मिशन के संचालन को सुनिश्चित करना और मानवीय कार्यो का संचालन करना शामिल है।

उन्होंने कहा, सभी ने स्वीकार किया कि यह कथन स्थिति के निपटान के लिए एकमात्र साधन है, जो कई सप्ताह पहले बहुत कठिन था।

लावरोव ने कहा, यह कहा गया था कि देश और विदेश दोनों में ही प्रयासों पर सवाल उठाना अस्वीकार करने योग्य हैं। उन्हंोने कहा कि रूस और आर्मेनिया ने बयान को बनाए रखने के लिए सब कुछ करने के अपने दृढ़ संकल्प की पुष्टि की।

युद्धविराम वक्तव्य पर 9 नवंबर को अजरबैजान के राष्ट्रपति इल्हाम अलीयेव, आर्मेनियाई प्रधानमंत्री निकोलस पशिनयान और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने हस्ताक्षर किए, जिसमें तीनों पक्ष 10 नवंबर से शुरू नागोर्नो-काराबाखा क्षेत्र में पूर्ण युद्ध विराम पर सहमत हुए।