रिजर्व बैंक की मौद्रिक समीक्षा, वैश्विक रुख से तय होगी शेयर बाजारों की दिशा

नयी दिल्ली,   भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक और वृहद आर्थिक आंकड़े इस सप्ताह शेयर बाजारों की दिशा तय करेंगे। इसके अलावा वाहन कंपनियों के मासिक बिक्री आंकड़ों से भी बाजार का दिशा मिलेगी। विश्लेषकों ने यह राय जताई है।

सोमवार को गुरु नानक जयंती के उपलक्ष्य में बाजार बंद रहेंगे।

मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के खुदरा शोध प्रमुख सिद्धार्थ खेमका ने कहा, ‘‘आगे चलकर बाजार का कुल रुख सकारात्मक रहेगा। पिछले कुछ सप्ताह के दौरान बाजार ने जोरदार लाभ दर्ज किया है। ऐसे में मुनाफावसूली की संभावना भी बनी रहेगी। वैश्विक स्तर पर निवेशकों की निगाह अमेरिकी की नई सरकार द्वारा प्रोत्साहन उपायों की घोषणा से जुड़े घटनाक्रमों पर रहेगी।’’

खेमका ने कहा कि घरेलू मार्चे पर बाजार उम्मीद से बेहतर सितंबर तिमाही के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के आंकड़ों पर प्रतिक्रिया देगा। इसके अलावा वाहन कंपनियों के नवंबर के बिक्री आंकड़ों पर भी सभी की निगाह रहेगी।

सितंबर तिमाही में जीडीपी में गिरावट की रफ्तार घटकर 7.5 प्रतिशत रह गई है। इससे उम्मीद बंधी है कि उपभोक्ता मांग बेहतर होने से आगे अर्थव्यवस्था की स्थिति में तेजी से सुधार होगा।

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘बाजार की निगाह महत्वपूर्ण घटनाक्रमों मसलन रिजर्व बैंक की मौद्रिक समीक्षा, विनिर्माण और सेवा पीएमआई आंकड़ों पर रहेगी।’’

बीते सप्ताह बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 267.47 अंक या 0.60 प्रतिशत के लाभ में रहा।

सैमको सिक्योरिटीज की वरिष्ठ शोध विश्लेषक निराली शाह ने कहा, ‘‘रिजर्व बैंक की मौद्रिक समीक्षा बैठक इसी सप्ताह होनी है। बाजारों के इस सप्ताह ‘छुट्टियों’ के मूड में रहने की संभावना है।’’

शाह ने कहा कि सबसे पहले बाजार जीडीपी आंकड़ों पर प्रतिक्रिया देगा। इसके अलावा वाहन बिक्री के आंकड़ों तथा रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक से भी बाजार को दिशा मिलेगी।