विस्कॉन्सिन में राष्ट्रपति चुनाव की दोबारा मतगणना खत्म, बाइडेन की जीत की पुष्टि

वाशिंगटन,   अमेरिकी राष्ट्रपति-चुने गए जो बाइडेन विस्कॉन्सिन में भी जीत गए हैं। राज्य की 2 सबसे बड़ी काउंटियों में 3 नवंबर को हुए राष्ट्रपति चुनाव के मतपत्रों की फिर से गिनती पूरी होने के बाद उनकी जीत की पुष्टि हो गई है, हालांकि नतीजों में बहुत थोड़ा सा परिवर्तन पाया गया है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, मिल्वौकी काउंटी में डेमोक्रेटिक पूर्व उपराष्ट्रपति बाइडेन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से 87 वोटों की बढ़त के साथ आगे रहे। राज्य के आंकड़े दिखाते हैं कि विस्कॉन्सिन को बाइडेन ने 20 हजार से ज्यादा मतों से जीत लिया है।

ट्रंप कैंपेन ने राज्य के कानून के अनुसार फिर से मतगणना के लिए 30 लाख डॉलर चुकाए हैं और अपनी स्पष्ट हार देखी है। नतीजों से एक दिन पहले ट्रंप ने शनिवार को ट्वीट किया था कि वह परिणामों को चुनौती देने के लिए सोमवार या मंगलवार को मुकदमा दायर करेंगे।

उन्होंने कहा, विस्कॉन्सिन का मामला गिनती में गलतियों को खोजने का नहीं बल्कि उनके लिए है जिन्होंने अवैध तरीके से मतदान किया है। हमने कई अवैध वोट देखे हैं।

विस्कॉन्सिन मंगलवार को परिणामों को प्रमाणित करेगा। कंजरवेटिव वोटर ग्रुप विस्कॉन्सिन वोटर्स एलायंस ने विस्कॉन्सिन चुनाव आयोग के खिलाफ मुकदमा दायर किया है और राज्य के सुप्रीम कोर्ट से प्रमाणीकरण को रोकने की मांग की है।

लेकिन विस्कॉन्सिन के गवर्नर टोनी एवर्स के वकीलों ने इसके खिलाफ मुकदमा दायर करते हुए समूह के प्रयास को लोकतंत्र पर हमला कहा और राज्य के सुप्रीम कोर्ट से इसे खारिज करने के लिए कहा।

डेमोक्रेटिक गवर्नर ने कहा है कि चुनाव परिणामों को प्रमाणित न करने पर राज्य भर में अन्य चुनाव परिणाम बदल जाएंगे, इससे अराजकता होगी।