कलयुग में होगा राम राज्य

उज्जैन। पूरे भारत वर्ष में हिन्दू संस्कृति सभ्यता के मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम भगवान के मंदिर निर्माण को लेकर आमजन में एक अनूठी खुशी की लहर वर्षों बाद लौटी है, जिसको लेकर हिन्दू समाज के संत व आमजन अपने-अपने तरीकों से रामोत्सव मना रहे हैं। उसी क्रम में उज्जैन के खाकी अखाड़े के संचालक संतश्री तुलसीदास ने बताया कि राम मंदिर निर्माण के लिए वर्षों से इंतजार किया जा रहा था। ५ अगस्त को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब राम मंदिर निर्माण का उदघाट्न करेंगे, तभी अभिजीत मुहूर्त में खाकी अखाड़ा अनगिनत दीपों को प्रज्वलित कर महाआरती करेगा। अखाड़े में राम दरबार का बहुत की सुंदर मंदिर भी है, जहाँ श्रद्धालु प्रतिदिन दर्शन लाभ लेने आते हैं। साथ ही ५ अगस्त को राम मंदिर निर्माण के उदघाट्न से पूर्व कोई बाधा उत्पन्न न हो, इसलिए अखाड़ा प्रांगण में अखण्ड रामायण का पाठ भी किया जा रहा। अखाड़े के संचालक संतश्री तुलसीदास ने बताया कि वैसे मंदिर निर्माण में कोई विघ्न उत्पन्न हो ही नहीं सकता, क्योंकि जिसके पहरेदार भगवान बाहुबली पवन पुत्र हनुमान हो, वहाँ विघ्न कैसा? इस खुशी को हमारा अखाड़ा समस्त संतों के साथ उत्साह के रूप में महाआरती कर मनाएगा। श्री अखिल भारतीय श्री पंच रामानंदी खाकी अखाड़े अंकपात मार्ग के प्रमुख श्री श्री 108 महंत श्री अर्जुनदास जी की आत्मीय मंशा पर अखाड़े के संचालक संत श्री तुलसीदास एवं अखाड़े के समस्त कार्यकर्ता व संतगण इस उत्साह को मनाएंगे। यह जानकारी संचालक संत श्री तुलसीदास द्वारा दी गयी।