कोरोना के कारण फिर से स्टेट ऑफ इमरजेंसी में लौटा पुर्तगाल

लिस्बन, । पुर्तगाली राष्ट्रपति मासेर्लो रेबेलो डी सूसा ने कोविड-19 महामारी को नियंत्रित करने के लिए 9 नवंबर से 23 नवंबर तक 15 दिनों के लिए देश में फिर से आपातकाल की घोषणा की है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने शुक्रवार को प्रेसिडेंट द्वारा जारी किए गए बयान के हवाले से कहा, मैंने अभी 8 महीने से जारी महामारी के बीच दूसरी बार स्टेट ऑफ इमरजेंसी के निर्णय पर हस्ताक्षर किए और हम जानते हैं कि यह कुछ दिन और बढ़ सकता है।

 

प्रधानमंत्री एंटोनियो कोस्टा ने इसी सप्ताह राष्ट्रपति से आपातकाल की स्थिति घोषित करने के लिए कहा था। बता दें कि पुर्तगाल में नागरिक सुरक्षा का सर्वोच्च स्तर स्टेट ऑफ इमरजेंसी है।

इस साल 19 मार्च से 2 मई के बीच इसे 45 दिनों के लिए लागू किया गया था, जिससे लोगों की आवाजाही और निजी क्षेत्र की स्वास्थ्य सुविधाओं के उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया गया था।

वर्तमान आपातकालीन घोषणा (डिक्री) का कहना है कि सार्वजनिक प्राधिकरण इस बीमारी के संक्रमण को रोकने के लिए जरूरी प्रतिबंध लगा सकते हैं। इसमें अनिवार्य तौर पर घर पर रहने की बात नहीं की गई है लेकिन यात्रा पेशेवर गतिविधियों के लिए है या स्वास्थ्य देखभाल के लिए है, कक्षाओं में भाग लेने के लिए और वस्तुओं और सेवाओं की आपूर्ति के लिए है तो उसे अनुमति दी जाएगी।

अब तक पुर्तगाल में कोरोनावायरस के 2,792 मौतों के साथ 1,67,000 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं।