एशिया दौरे के अंतिम पड़ाव में वियतनाम पहुंचे पोम्पियो

हनोई,  अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव से पहले एशिया दौरे के अंतिम पड़ाव में अमेरिकी विदेशी मंत्री माइक पोम्पियो वियतनाम पहुंचे।

अमेरिका में राष्ट्रपति पद के चुनाव का मुख्य मुद्दा चीन है। शुक्रवार को पोम्पियो हनोई पहुंचे। अमेरिका-वियतनाम के बीच संबंध स्थापित होने के 25 वर्ष पूरे होने के मौके पर वह यहां पहुंचे।

एशिया दौरे में इससे पहले पोम्पियो भारत, श्रीलंका, मालदीव और इंडोनेशिया गए थे। इन पड़ावों की तरह ही वियतनाम में भी पोम्पियो द्वारा ट्रंप प्रशासन के चीन विरोध, कोरोना वायरस महामारी से निपटने के उसके तरीके, मानवाधिकारों को लेकर उसके रिकॉर्ड और छोटे पड़ोसी देशों के प्रति उसकी आक्रामकता को रेखांकित किए जाने की उम्मीद है।

पोम्पियो के वियतनाम पहुंचने से पहले जारी वक्तव्य में विदेश विभाग ने चीन पर सहयोग के वादों से मुकरने और दक्षिण चीन सागर में अपने दावों को आक्रामक तरीके से रखने के लिए हमला बोला।

इसमें कहा गया कि चीन के ‘‘मेकांग क्षेत्र में अस्थिरता लाने का प्रयास करने वाली दुर्भावनापूर्ण गतिविधियों से लाखों लोग प्रभावित हो रहे हैं।’’

वियतनाम आने से पहले पोम्पियो इंडोनेशिया गए थे।