थाइलैंड में पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले छोड़े, रबर की गोलियां चलाई, कई घायल

बैंकाक,  थाइलैंड में हिरासत में लिए गए कार्यकर्ताओं को रिहा करने, संवैधानिक बदलाव और देश में राजशाही में सुधार की मांग कर रहे लोकतंत्र समर्थकों पर पुलिस ने शनिवार की रात पानी की बौछारें छोड़ी, आंसू गैस के गोले दागे और रबर की गोलियां चलाईं, जिसमें बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी घायल हो गए ।

पुलिस ने बड़ी संख्या में प्रदर्शकारियों को गिरफ्तार भी किया है।

बैंकॉक के ग्रैंड पैलेस के बाहर हुए ये प्रदर्शन देश में पिछले वर्ष शुरू हुए छात्र प्रदर्शनों के ही क्रम में हैं। रैली के आयोजकों ने कहा था कि उनकी योजना यह है कि प्रदशर्नकारी कागज का हवाई जहाज बना कर और उसमें संदेश लिख कर महल की ओर उड़ाएं।

करीब एक हजार प्रदर्शनकारियों ने महल के बाहर बनाए गए अवरोधकों को तोड़ दिया। इस पर अवरोधकों के पीछे खड़ी पुलिस ने पहले तो प्रदर्शनकारियों को चेतावनी दी और उसके बाद उन पर आंसू गैस के गोले छोड़े और रबर की गोलियां चलाईं।

पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को पीछे खदेड़ दिया। रात करीब दस बजे भीड़ तितर-बितर हो गई।

शहर की आपात चिकित्सा सेवा ‘इरावन’ ने बताया कि इस संघर्ष में 13 पुलिसकर्मियों सहित कुल 33 लोग घायल हो गए हैं । दो संवाददाताओं को भी रबर की गोलियां लगी हैं। संस्था ‘‘ थाई लॉयर्स फॉर ह्यूमन राइट्स’’ ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि 32 लोगों को हिरासत में लिया गया है।

विरोध प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर धुएं के बम और बड़े पटाखे फेंके।

पुलिस उप प्रवक्ता कर्नल किसाना पी ने कहा कि पुलिस ने पहले ही चेतावनी दे दी थी कि रैली अवैध है।