अमर सिंह को श्रद्धांजलि देते हुए अमिताभ ने कहा, केवल प्रार्थनाएं बची हैं

मुंबई, अभिनेता अमिताभ बच्चन ने अपने करीबी मित्र एवं राज्यसभा सदस्य अमर सिंह को श्रद्धांजलि दी और उनके साथ अपने मित्रतापूर्ण संबंधों को याद किया।

सिंह (64) का सिंगापुर के एक निजी अस्पताल में लंबी बीमारी के बाद शनिवार को निधन हो गया था। उनका 2011 में गुर्दा प्रतिरोपण हुआ था और लंबे समय से उनकी तबियत खराब चल रही थी। बीते कई महीनों से उनका सिंगापुर के अस्पताल में इलाज चल रहा था।

बच्चन और सिंह की दोस्ती करीब दो दशक पुरानी थी।

बच्चन (77) ने अपने ब्लॉग पर सिर झुकाए हुए श्वेत-श्याम तस्वीर साझा की और लिखा, ‘‘शोक में डूबे, सिर झुकाए, केवल प्रार्थनाएं बची हैं। करीबी जीवन, करीबी संबंध और आत्मा नहीं रही।’’

ऐसा माना जाता है कि जब अमिताभ बच्चन का प्रोडक्शन हाउस अमिताभ बच्चन कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एबीसीएल) दिवालिया होने के कगार पर था तब सिंह ने उनकी मदद की थी और इस तरह उन दोनों के बीच मित्रता की शुरुआत हुई।

जया बच्चन को राजनीति में लाने का श्रेय भी अमर सिंह को जाता है। वह 2004 में समाजवादी पार्टी की ओर से राज्यसभा सदस्य बनी थीं। लेकिन बच्चन और सिंह की मित्रता में तब खटास आई जब सिंह को सपा से निकाल दिया गया और जया बच्चन ने पार्टी में बने रहने का फैसला किया।

इस वर्ष फरवरी में सिंह ने बच्चन परिवार से अपने मतभेदों को भुलाते हुए ट्विटर पर लिखा था, ‘‘आज मेरे पिता की पुण्यतिथि है और मुझे सीनियर बच्चन जी से इस बारे में संदेश मिला है। जीवन के इस पड़ाव पर जब मैं जिंदगी और मौत की लड़ाई लड़ रहा हूं, मैं अमित जी और उनके परिवार के लिए मेरी अत्यधिक प्रतिक्रियाओं पर खेद प्रकट करता हूं। ईश्वर उन सभी का भला करें।’’