अफगानिस्तान में पाक समावेशी शांति प्रक्रिया का समर्थन करता है : इमरान

काबुल,   अफगानिस्तान दौरे पर आए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने यहां कहा कि इस्लामाबाद अफगानिस्तान में एक समावेशी शांति प्रक्रिया का समर्थन करता है और युद्धग्रस्त देश में शांति के लिए सभी प्रयास करेगा।

खान ने गुरुवार को अफगान राष्ट्रपति मोहम्मद अशरफ गनी के साथ एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन के दौरान कहा, जब अफगानिस्तान में हिंसा बढ़ रही है, उस समय आने का विचार, राष्ट्रपति महोदय आपको यह आश्वस्त करने के लिए है कि हम पाकिस्तान के लोगों और पाकिस्तान सरकार को केवल एक ही चिंता है और आप अफगानिस्तान में जो महसूस कर रहे हैं, वह यह है कि हम अफगानिस्तान में शांति चाहते हैं।

खान, गनी के निमंत्रण पर एक दिवसीय यात्रा पर गुरुवार को काबुल पहुंचे।

यह 2018 में पद संभालने के बाद से खान की पड़ोसी देश की पहली यात्रा है

इससे पहले दिन में, गनी और खान ने देश के राष्ट्रपति महल आर्ग में एक बैठक के दौरान अफगान शांति प्रक्रिया और द्विपक्षीय संबंधों पर चर्चा की।

खान ने कहा कि पाकिस्तान दोहा (कतर) में काबुल सरकार के प्रतिनिधिमंडल और तालिबान के प्रतिनिधियों के बीच चल रही शांति वार्ता के बावजूद अफगानिस्तान में हाल में बढ़ी हिंसा को लेकर चिंतित है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी यात्रा का उद्देश्य अफगानिस्तान और पाकिस्तान के बीच विश्वास कायम करना और संबंधों को मजबूत करना है।

राष्ट्रपति गनी ने खान की काबुल यात्रा को ऐतिहासिक यात्रा करार देते हुए कहा कि इसमें यह संदेश है कि हिंसा अफगानिस्तान की मौजूदा स्थिति का जवाब नहीं है।