युवाओं के प्रदर्शन पर भावनाओं में बहने की जरूरत नहीं : कार्तिक

दुबई,  कोलकाता नाइटराइडर्स (केकेआर) के कप्तान दिनेश कार्तिक को खुशी है कि उनकी टीम के युवा खिलाड़ी इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में मैच विजेता प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन वह इसको लेकर वह भावनाओं में बहकर टूर्नामेंट आगे बढ़ने के साथ इन युवाओं पर अतिरिक्त दबाव नहीं बनाना चाहते हैं।

युवा सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल ने केकेआर की सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ जीत में नाबाद 70 रन और राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ 47 रन बनाये जबकि अंडर-19 टीम के उनके साथी रहे शिवम मावी और कमलेश नागरकोटी ने पिछले मैच में शानदार गेंदबाजी की।

केकेआर के कप्तान ने इन तीनों की प्रशंसा की लेकिन इसमें उन्होंने सतर्कता भी बरती।

कार्तिक ने मैच के बाद कहा, ‘‘निश्चित तौर ये युवा खिलाड़ी शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं और यह बहुत अच्छा है। मुझे नहीं लगता कि हमें इसको लेकर भावनाओं में बहने या उनके बारे में बहुत बातें करनी चाहिए। बस यह सब देख रहे हैं कि वे बहुत अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। ’’

कार्तिक ने कहा कि महत्वपूर्ण यह है कि युवा खिलाड़ी टूर्नामेंट आगे बढ़ने के साथ किसी तरह का दबाव महसूस नहीं करें।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं उन्हें यह अहसास दिलाकर कि हम उन पर निर्भर हैं, उन्हें अतिरिक्त दबाव में नहीं लाना चाहता हूं। वे शानदार क्रिकेटर हैं जो अपनी भूमिका निभा रहे हैं। ’’

मावी ने जोस बटलर और संजू सैमसन के महत्वपूर्ण विकेट लिये जबकि नागरकोटी ने रोबिन उथप्पा और रेयान पराग को पवेलियन भेजा।

इन युवा गेंदबाजों को अब दुनिया के नंबर एक टेस्ट गेंदबाज पैट कमिन्स का साथ मिल रहा है और कार्तिक का मानना है इससे बड़ा अंतर पैदा हो सकता है।

उन्होंने कहा, ‘‘कमिन्स हर किसी के लिये रोल मॉडल है। उस जैसे खिलाड़ी की मौजूदगी से मनोबल बढ़ता है। उसका युवाओं के साथ अच्छा व्यवहार है और उनका टीम में होना शानदार है। युवा खिलाड़ी उनसे काफी सीख रहे हैं। वह मैदान के अंदर ही नहीं बल्कि बाहर भी इन खिलाड़ियों के संपर्क में रहते हैं जिससे बड़ा अंतर पैदा होता है। ’’