पेट्रोल-डीजल-रसोई गैस की कीमतों में वृद्धि के खिलाफ मप्र कांग्रेस के आधे दिन के बंद का मिलाजुला असर

भोपाल,   देश भर में पेट्रोल डीजल एवं रसोई गैस की बढ़ती कीमतों के विरोध में मध्य प्रदेश कांग्रेस के आधे दिन के बंद का शनिवार को मिलाजुला असर रहा। भोपाल में पूर्व मंत्री पी सी शर्मा सहित कांग्रेस कार्यकताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया। राजधानी भोपाल में कई स्थानों पर दुकानें खुली रहीं।

मध्य प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता भूपेंद्र गुप्ता ने कहा कि हमारे बंद को लोगों का समर्थन मिल रहा है जबकि भाजपा सरकार ज़बरदस्ती दुकानें खुलवा रही है।

वहीं, प्रदेश भाजपा के मुख्य प्रवक्ता दीपक विजयवर्गीय ने कहा कि कांग्रेस के बंद का प्रदेश में कोई असर नहीं है और यह पूरी तरह विफल साबित हुयी है ।

पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने पीटीआई भाषा से कहा, ‘‘ हम दुकानदारों से अनुरोध कर रहे थे कि वह अपने शटर बंद रखें। तभी मुझे अन्य कांग्रेस नेताओं एवं कार्यकर्ताओं के साथ भोपाल के छह नंबर स्टॉप के पास पुलिस ने हिरासत में ले लिया और इसके बाद हमें केन्द्रीय जेल परिसर में लाया गया है।’’ प्रदेश के इन्दौर सहित कुछ जिलों से पुलिस और प्रदर्शनकारी कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच गतिरोध के खबरें आई हैं।

भोपाल के एक पेट्रोल पम्प के मालिक ने पीटीआई को बताया, ‘‘पुलिस मेरे पेट्रोल पंप पर सुबह आई और उसे खोलने के लिये कहा। वहीं दूसरी और कांग्रेस कार्यकता हमें अपना पंप बंद रखने के लिये अनुरोध कर रहे हैं। इससे हम बीच में फंस गये हैं।’’ मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा, ‘‘कांग्रेस ने 20 फरवरी को प्रदेश में आधे दिन के बंद का आह्वान किया है। मैं लोगों से अपील करता हूं कि वह पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की बढ़ती कीमतों के विरोध में सरकार को जगाने के हमारे प्रयास में शामिल हों।’’ इसबीच, मध्य प्रदेश पेट्रोल पंप ओनर्स एसोसिएशन के सचिव नकुल शर्मा ने कहा कि एक प्रमुख तेल कंपनी के प्रीमियम पेट्रोल की कीमत भोपाल में 102.26 रुपये प्रति लीटर है जबकि सामान्य पेट्रोल की कीमत 98.58 रुपये और डीजल 89.21 रुपये प्रति लीटर में बेचा जा रहा है।