मप्र : बोरवेल में गिरे बच्चे को निकालने का अभियान अंतिम चरण में

निवाड़ी (मध्य प्रदेश),   मध्य प्रदेश के निवाड़ी जिले में बोरवेल के गडढे में गिरे चार साल के प्रह्लाद को सुरक्षित निकालने के लिए बीते 48 घ्ांटे से चल रहा राहत और बचाव अभियान अंतिम चरण में है। लगभग 60 फुट तक खुदाई कर ली गई है और बच्चे के करीब तक पहुंचने के लिए सुरंग बनाई जा रही है।

निवाड़ी जिले के सेतपुरा गांव में हरिकिशन का चार साल का बेटा प्रह्लाद बुधवार की सुबह खेत में खोदे गए बोरवेल में गिर गया था, उसके बाद से ही बच्चे को सुरक्षित निकालने के लिए राहत और बचाव अभियान चलाया जा रहा है। दो सौ फुट खोदे गए बोरवेल के गडढे में लगभग 60 फुट की गहराई पर बच्चे के फंसे होने की संभावना है। सेना और अन्य राहत व बचाव दल ने समानांतर गड्ढा खोद लिया है और साथ ही सुरंग बनाई जा रही है ताकि बच्चे के करीब तक पहुंचा जा सके। इसके लिए रेलवे की मशीनों की मदद ली जा रही है।

बच्चा जिस गडढे में गिरा है उसमें लगातार ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है। वहीं कैमरे के जरिए उसकी हर हरकत पर नजर रखी जा रही है। बीते लगभग 36 घंटे से बच्चा किसी भी तरह की हरकत करते नजर नहीं आया है। अनुमान है कि बच्चे तक राहत और बचाव दल के लोग किसी भी समय पहुंच सकते हैं।

एक तरफ राहत और बचाव कार्य चल रहा है वहीं लोग मंदिरों में पूजा पाठ भी कर रहे हैं, हर तरफ यही कामना की जा रही है कि बच्चे को सुरक्षित निकाल लिया जाए।