मोदी बेंगलुरू प्रौद्योगिकी शिखर सम्मेलन का वर्चुअल शुभारंभ करेंगे

बेंगलुरू,  । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को नई दिल्ली से बेंगलुरू प्रौद्योगिकी शिखर सम्मेलन (बेंगलुरू टेक समिट) के 23वें संस्करण का डिजिटल अनावरण करेंगे। इस दौरान मोदी तकनीकी शहर में होने वाले कार्यक्रम को संबोधित भी करेंगे।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री सी.एन. अश्वथ नारायण ने बुधवार को यहां संवाददाताओं से कहा, प्रधानमंत्री मोदी राज्य के प्रमुख वार्षिक प्रौद्योगिकी कार्यक्रम का डिजिटल रूप से उद्घाटन करेंगे और प्रतिनिधियों को संबोधित करेंगे, जो कि ऑफलाइन और ऑनलाइन वीडियो कॉन्फेंसिंग के माध्यम से भाग लेने वाले हैं।

कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले दुनियाभर के 25 देशों के प्रमुख विदेशी प्रतिभागियों में ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन और स्विस कंफेडरेशन के वाइस प्रेसिडेंट गाय परमेलिन भी शामिल हैं।

तीन-दिवसीय शिखर सम्मेलन, शहर के केंद्र में स्थित एक होटल में आयोजित किया जाएगा, जो आईटी और जैव प्रौद्योगिकी (बीटी) में नवाचार और विकास पर ध्यान केंद्रित करेगा, जो दक्षिणी राज्य में इस तकनीक हब के विकास को संचालित करता है।

नारायण ने कहा, मोदी 22 साल पहले नवंबर, 1998 में अटल बिहारी वाजपेयी के बाद शहर में इस कार्यक्रम का अनावरण करने वाले दूसरे प्रधानमंत्री होंगे।

नारायण, जो शहर से सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक हैं, उनके पास आईटी, बीटी और विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी जैसे विभागों की जिम्मेदारी भी है।

चूंकि कार्यक्रम कोरोनावायरस महामारी के बीच हो रहा है, इसलिए प्रतिनिधियों के लिए वीडियो कॉन्फें सिंग के माध्यम से सत्र के विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए विशेष व्यवस्था की गई है।

नारायण ने कहा, प्रौद्योगिकी और नवाचार एक वरदान है और यह महामारी के कारण होने वाली कठिनाइयों को कम करने का एक समाधान भी है, जिसका हम सभी सामना कर रहे हैं।

बता दें कि बेंगलुरू टेक समिट का आयोजन 19 से 21 नवंबर तक कर्नाटक सरकार की ओर से कर्नाटक इनोवेशन एंड टेक्नोलॉजी सोसाइटी (किट्स) के साथ मिलकर किया जाएगा। इसके अलावा कार्यक्रम में कर्नाटक सरकार के सूचना प्रौद्योगिकी पर विजन ग्रुप, जैव प्रौद्योगिकी और स्टार्टअप, सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क्‍स ऑफ इंडिया (एसटीपीआई) और एम. एम. एक्टिव साइंस-टेक कम्युनिकेशंस का भी सहयोग रहेगा।

बेंगलुरू प्रौद्योगिकी शिखर सम्मेलन में ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री और स्विस परिसंघ के वाइस प्रेसिडेंट के साथ ही कई अन्य प्रमुख अंतर्राष्ट्रीय हस्तियों की भागीदारी देखी जाएगी।

इस वर्ष शिखर सम्मेलन का विषय नेक्सट इज नाउ यानी अगला अब है रखा गया है।