कोविड-19 महामारी के बीच मध्यप्रदेश वासियों ने घरों में रहकर किया योग

भोपाल,   कोविड-19 वैश्विक महामारी के कारण छठे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर रविवार को मध्यप्रदेश वासियों ने अपने घरों में योग किया।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी अपनी पत्नी साधना सिंह और दोनों बेटों के साथ अपने घर पर ही यहां योग किया।

चौहान ने प्रदेश वासियों को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की हार्दिक बधाई देते हुए रविवार को ट्वीट किया, ‘‘आज कोविड-19 के संक्रमण काल में योग का महत्व और बढ़ गया है। आदिकाल से चले आ रहे योग के विज्ञान को अपने जीवन में हम उतारेंगे तो कोरोना वायरस जैसी हजारों बीमारियों से भी निपट लेने में हमारा शरीर सक्षम होगा। आइये, अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर योग करने और स्वस्थ जीवन जीने का संकल्प लें।’’

उन्होंने आगे लिखा, ‘‘आप सभी निरोग रहें, स्वस्थ रहें, प्रसन्न रहें और सामूहिक योग कार्यक्रम के बजाय अपने घर पर रह कर ही योग करें। नियमित योग और सूर्य नमस्कार अच्छे स्वास्थ्य के लिए उपयोगी है। आज कोरोना वायरस संकट के दौर में शरीर को सशक्त बनाने में इसके महत्व को दुनिया भी समझ रही है।’’

चौहान ने कहा कि योग रामबाण औषधि की तरह है। योग से निरोग बनेंगे और निरोगी काया ही जीवन का सच्चा सुख है। स्वयं योग कीजिए और दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित कीजिए।

उन्होंने कहा कि आपके शरीर रूपी अमूल्य खजाने की रक्षा के लिए योग सबसे कारगर योद्धा है। यह आपके शरीर के साथ मन को भी स्वस्थ रखने का काम करेगा।

भोपाल में कुछेक स्थानों पर रविवार सुबह सैर पर निकले कुछ लोग मुंह पर मास्क पहने हुए सड़कों के किनारे एक दूसरे से दूरी बनाकर योग करते हुए नजर आये।

कोविड-19 वैश्विक महामारी के कारण इस बार अंतरराष्ट्रीय योग दिवस बिना जन समूहों के डिजिटल मीडिया माध्यमों के जरिए ही मनाया जा रहा है। इस बार की थीम ‘घर पर योग और परिवार के साथ योग’ है।

संयुक्त राष्ट्र ने 11 दिसंबर 2014 को घोषणा की थी कि हर साल 21 जून को ‘अंतरराष्ट्रीय योग दिवस’ मनाया जाएगा।