मध्यप्रदेश स्वास्थ्य विभाग ‘कोविड मित्र’ बनाने पर कर रहा है विचार

भोपाल,   मध्यप्रदेश स्वास्थ्य विभाग कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए सरकार की मदद करने के वास्ते स्वयंसेवियों को ‘कोविड मित्र’ बनाने पर विचार कर रहा है।

मध्यप्रदेश जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने रविवार को बताया, ‘मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति एवं इससे निपटने की व्यवस्थाओं की समीक्षा करते हुए कहा कि प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण रोकने के लिए समुदाय का पूरा सहयोग लिया जाए और इस संबंध में एक प्रभावी सिस्टम बनाया जाए।’’

उन्होंने कहा,‘‘ इस बैठक में स्वास्थ्य विभाग ने ‘समुदाय आधारित निगरानी तंत्र’ का प्रस्तुतीकरण किया। जिसके अंतर्गत नागरिकों की सुविधा के लिए ‘सार्थक लाइट’ नामक ऐप तैयार करने और तथा ‘कोविड मित्र’ बनाने की बात कही गई।’’

अधिकारी ने बताया कि इस प्रस्तुतीकरण में बताया गया कि पहले चरण में शहरी क्षेत्रों में कोविड मित्र बनाए जा सकते हैं। इन्हें ऑक्सीमीटर दिया जाएगा, जिसके माध्यम से वे लोगों में ऑक्सीजन के स्तर की जांच करेंगे।

उन्होंने कहा कि कोई भी 45 वर्ष तक की उम्र का स्वस्थ व्यक्ति, समाजसेवी संगठन कोविड मित्र बन सकते हैं।