जॉर्डन के किंग ने प्रधानमंत्री का इस्तीफा स्वीकार किया

अम्मान,  जॉर्डन के किंग अब्दुल्ला ने प्रधानमंत्री उमर रज्जाज मंत्रिमंडल के इस्तीफे को स्वीकार कर लिया है, लेकिन उन्हें किसी उत्तराधिकारी के आने तक कार्यवाहक प्रधानमंत्री के रूप में काम जारी रखने के लिए कहा गया है। 10 नवंबर को आम चुनाव होंगे।

रॉयल कोर्ट ने एक बयान में यह जानकारी दी।

जॉर्डन टाइम्स के मुताबिक, रज्जाज के इस्तीफे का जवाब देते हुए, शनिवार को एक पत्र में किंग ने निवर्तमान प्रधानमंत्री और उनकी कैबिनेट टीम को ‘अपने कर्तव्यों का पालन करने और अपने कार्यकाल में अपने दायित्वों को पूरा करने के लिए, विशेष रूप से कोविड-19 महामारी में असाधारण परिस्थितियों के दौरान’ दायित्वों के निर्वहन के लिए धन्यवाद दिया।

उन्होंने पत्र में कहा कि योजनाओं और कार्यक्रमों को स्थापित करने और प्राथमिकताओं को लागू करने में कैबिनेट के प्रयासों के बावजूद, गलतियों से सीखना महत्वपूर्ण है जो कोविड-19 की प्रतिक्रिया के पहलुओं को चिह्न्ति करते हैं।

उन्होंने आगे कहा, “जैसा कि मैं आपके इस्तीफे को स्वीकार करता हूं, मैं आपको और मंत्रिमंडल को कार्यवाहक सरकार के रूप में काम जारी रखने की जिम्मेदारी सौंपता हूं, जब तक कि एक नए प्रधानमंत्री का चयन नहीं हो जाता और एक नया मंत्रिमंडल नहीं बन जाता और मैं इस अवधि के दौरान लगन से काम करने के महत्व पर जोर देता हूं, क्योंकि कोविड-19 से निपटने के लिए बिना किसी देरी के चल रहे उपायों के साथ, केंद्रित और लगातार कार्रवाई की आवश्यकता है।”

अपने त्याग पत्र में, रज्जाज ने 2018 में प्रधानमंत्री बनने के बाद से अपने मंत्रिमंडल की उपलब्धियों को रेखांकित किया।

नवंबर के चुनाव से पहले देश की संसद भंग होने के लगभग एक सप्ताह बाद प्रधानमंत्री का यह इस्तीफा सामने आया है।