20 रुपये का नोट छापने में आता है एक रुपए का खर्चा, जाने 2000 का नोट कितने में छपता है?

2000, 500 के नोट दिखने में तो एक प्रिंटिंग पेपर जैसे ही दिखते हैं. हालांकि इनकी मार्केट वैल्यू अलग-अलग होती है. नोट में कई सिक्योरिटी फीचर्स भी होते हैं, ताकि लोग नकली और असली नोट की पहचान कर सकें. क्या कभी आपने सोचा है कि 2000, 500 या 200 की कीमत वाले नोट को छापने में कितना खर्च होता है. आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि आखिर एक नोट को छापने में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया कितना खर्च करता है.

बता दें कि भारत में नोट भारत सरकार और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा छापे जाते हैं. यह सिर्फ सरकारी प्रिंटिंग प्रेस में ही छापे जाते हैं. देश भर में केवल 4 प्रिंटिंग प्रेस हैं. इन नोटों की छपाई में विशेष तरह की इंक का इस्तेमाल होता है, जो स्विट्जरलैंड की एक कंपनी द्वारा बनाई जाती है. नोट के लिए पेपर भी अलग तरीके से तैयार किए जाते हैं.

2000 के नोट की छपाई में होता है कितना खर्च 

बता दे कि 2018-19 में 2000 के नोट की छपाई में काफी कम खर्चा हुआ था. 2018 में 2000 का नोट छपने में 4 रुपये 18 पैसे खर्च हुए थे. लेकिन 2019 में एक नोट की छपाई में 3.53 रुपए का खर्चा हुआ था. यानी ₹2000 का नोट छापने में 3-4 रुपये खर्च होते हैं. अगर ₹500 के नोट की बात करें तो इसको छापने में 2.13 रुपये का खर्च आता है. जबकि ₹200 का नोट छापने में 2.15 रुपये का खर्च आता है. 10 रुपये के नोट छापने में 1.01 रुपये, 20 रुपये के नोट छापने में 1 रुपये, 50 रुपये के नोट छापने में 1.01 रुपये और 100 रुपये के नोट छापने में 1.51 पैसे का खर्च होता है.