पश्चिमी सीरिया में फिर से अपनी जड़ें जमाने की कोशिश कर रहा है इस्लामिक स्टेट : अमेरिकी कमांडर

वाशिंगटन,   पश्चिम एशिया मामलों के शीर्ष अमेरिकी कमांडर ने बुधवार को आगाह किया कि आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट एक बार फिर पश्चिमी सीरिया में अपनी पकड़ मजबूत करने की कोशिश कर रहा है, जहां अमेरिका की मौजूदगी काफी कम है।

जनरल फ्रैंक मैकेंजी ने कहा कि फ़रात नदी के पश्चिम में स्थिति इतनी खराब है कि इस्लामिक स्टेट से सक्रिय होने की आशंकाएं पैदा हो रही हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘ हम सभी को इसकी चिंता करनी चाहिए।’’

मैकेंजी ने कहा कि आतंकवादियों पर कोई अंकुश नहीं है, लेकिन अमेरिका और उसके सहयोगियों को उम्मीद है कि आतंकवादी संगठन को रोकने के लिए सीरियाई शासन कुछ करेगा।

देश के पश्चिमी हिस्से पर रूस समर्थित सीरियाई सरकार के सैनिकों का नियंत्रण है। वहीं अमेरिका और सहयोगी ‘सीरियाई डेमोक्रेटिक बल’ देश के पूर्वी हिस्सों में सक्रिय हैं।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने आईएस की हार को अपनी प्रमुख राष्ट्रीय सुरक्षा उपलब्धियों में से एक बताया है।

उन्होंने देश से अमेरिकी सैनिकों की योजनाबद्ध तरीके से वापसी के तहत तुर्की के पास उत्तरी सीमा से अमेरिकी सेना को हटाने का आदेश भी दिया है।

मैकेंजी ने टाम्पा में अपने अमेरिकी मध्य कमांड कार्यालय से ‘यूनाइटेड स्टेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ पीस’ के ऑनलाइन कार्यक्रम में कहा कि सीरियाई शरणार्थी शिविरों से लोगों को स्थानांतरित करने का काम पहले ही धीमी गति से चल रहा है जिसे कोरोना वायरस संक्रमण ने अधिक जटिल कर दिया है और इसकी गति को और धीमा किया है।

उन्होंने कहा कि शिविरों में लोगों को भड़काना, खासकर युवकों को…एक बड़ी चिंता का विषय है।