अमेरिका में भारतवंशियों का बढ़ा दबदबा: बाइडन

वाशिंगटन,   अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने अपने प्रशासन में बड़ी संख्या में भारतीय-अमेरिकियों को शामिल किए जाने का हवाला देते हुए बृहस्पतिवार को कहा कि भारतीय-अमेरिकी लोगों का देश में दबदबा बढ़ा है।

राष्ट्रपति पद संभालने के 50 दिन के भीतर ही बाइडन ने अपने प्रशासन में महत्वपूर्ण पदों पर भारतीय मूल के कम से कम 55 लोगों को नियुक्त किया। राष्ट्रपति के भाषण लेखन से लेकर अंतरिक्ष एजेंसी नासा तक सरकार के हर विभाग में भारतीय मूल के अमेरिकियों की नियुक्ति हुई है।

मंगल की सहत पर ‘पर्सेवियरेंस’ रोवर को उतारने के अभियान में शामिल नासा के वैज्ञानिकों से डिजिटल माध्यम से बात करते हुए बाइडन ने कहा, ‘‘भारतीय मूल के अमेरिकियों का देश में दबदबा बढ़ा है। आप (स्वाति मोहन), उपराष्ट्रपति (कमला हैरिस), मेरे भाषण लेखक (विनय रेड्डी) हैं।’’

मोहन ने नासा के मंगल 2020 अभियान में दिशा-निर्देश, दिशा-सूचक और नियंत्रण अभियान का नेतृत्व किया। ‘पर्सेवियरेंस’ रोवर 18 फरवरी को मंगल की सतह पर उतरा था।

बाइडन ने 20 जनवरी को अमेरिका के 46 वें राष्ट्रपति पद की शपथ ली थी। उन्होंने अपने प्रशासन में भारतीय मूल के कम से कम 55 लोगों की नियुक्ति की है।

इनमें से आधी संख्या महिलाओं की हैं और वे व्हाइट हाउस में काम कर रही हैं। इससे पहले बराक ओबामा के कार्यकाल में सबसे ज्यादा भारतीय मूल के लोगों की नियुक्ति की गयी थी।

भारतवंशी समाजसेवी और ‘इंडियास्पोरा’ के संस्थापक एम रंगास्वामी ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘यह देखना अत्यंत सुखद है कि भारतीय मूल के कई लोग लोकसेवा का काम कर हैं। नयी सरकार के बाद और कई लोग जुड़े हैं। समुदाय का दबदबा बढ़ते देखकर गर्व की अनुभूति हो रही है।’’