भारत ने कोविड से हुई मौतों के सही आंकड़े नहीं दिए : ट्रंप

न्यूयॉर्क,  । अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि भारत ने कोविड-19 से हुई मौतों के बारे में सही आंकड़े नहीं दिए हैं और यह माहौल को खराब कर रहा है। उन्होंने ये भी कहा कि भारत पर्यावरण को भी प्रदूषित कर रहा है।

उनके और डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाइडन के बीच मंगलवार रात हुई पहली बहस के दौरान, दोनों ने महामारी के कारण हुई मौतों के बारे में विस्तार से अपनी बात रखी और एक-दूसरे पर निशाना भी साधा।

बाइडन ने कहा कि अमेरिका में कोरोनवायरस से मरने वाले 2 लाख लोग वैश्विक मौतों (10 लाख) का 20 प्रतिशत है, जबकि अमेरिका की आबादी दुनिया का केवल 4 प्रतिशत है।

ट्रंप ने इस पर पलटवार करते हुए कहा,”जब आप संख्या के बारे में बात करते हैं तो क्या आप जानते हैं कि चीन में कितने लोग मारे गए? आप जानते हैं कि रूस में कितने लोग मारे गए? आप नहीं जानते कि भारत में कितने लोग मारे गए। वे आपको सही आंकड़ें नहीं देते हैं।”

ट्रंप ने कहा कि महामारी चीन की गलती है, लेकिन बाइडन ने चीन की भूमिका का इस्तेमाल ट्रंप पर दोष मढ़ने के लिए करना चाहा।

जब जलवायु परिवर्तन और पेरिस जलवायु समझौता, जिससे ट्रंप ने अमेरिका को अलग कर दिया था, का मुद्दा उठा तो उन्होंने कहा, “चीन हवा में असली गंदगी भेजता है। रूस करता है। भारत करता है।”

बाइडन ने उन देशों को आगाह किया जो अपने पर्यावरणीय एजेंडा का अनुपालन नहीं करते हैं, उन्होंने ब्राजील को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर इसने जंगलों को नष्ट करना जारी रखा तो “आपको महत्वपूर्ण आर्थिक परिणाम भुगतने होंगे।”

क्लीवलैंड में पहली बहस घरेलू मुद्दों को लेकर हुई और एजेंडा में कोई अंतर्राष्ट्रीय सवाल नहीं था। फॉक्स न्यूज के क्रिस वैलेस ने इसे मॉडरेट किया। भारत और दो अन्य देशों का उल्लेख इसे अंतर्राष्ट्रीय संदर्भ में ले गया।

इससे पहले अपने न्यूज कॉन्फ्रेंस में, उन्होंने भारत द्वारा रिकॉर्ड कोविड-19 परीक्षण करने को लेकर परीक्षण मामले में दुनिया में दूसरा सबसे बेहतर देश बताया था और सिर्फ अमेरिका को उससे आगे बताया था।