पिछले नौ महीनों में कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए अभूतपूर्व उपाय किए हैं: ट्रंप

वाशिंगटन,   अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि उनके प्रशासन ने पिछले नौ महीनों में कोरोना वायरस के प्रकोप से निपटने के लिए अभूतपूर्व उपाय किए हैं। इनमें उपचार और टीके विकसित करने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर सार्वजनिक-निजी भागीदारी शामिल है।

पिछले हफ्ते मीडिया संगठनों द्वारा डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बाइडन को तीन नवंबर को हुए राष्ट्रपति चुनाव का विजेता घोषित किए जाने के बाद पहली बार ट्रंप ने शुक्रवार को प्रेस को संबोधित किया। निवर्तमान राष्ट्रपति ने कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई पर ध्यान केंद्रित करने की बात कही।

मीडिया संगठनों ने 77 वर्षीय डेमोक्रेट बाइडन के राष्ट्रपति चुनाव जीतने की घोषणा की है, जबकि 74 वर्षीय ट्रंप ने चुनाव में धोखाधड़ी का आरोप लगाया है। फैसले के खिलाफ ट्रंप कई राज्यों में कानूनी लड़ाई लड़ रहे हैं।

ट्रंप ने शुक्रवार को व्हाइट हाउस के रोज गार्डन से कहा, ‘‘इतने बड़े दायरे और पैमाने पर कोई चिकित्सीय सफलता कभी भी इस तेजी से हासिल नहीं हुई है और हमें इस पर बहुत गर्व है और मुझे व्हाइट हाउस में सेना, जनरलों, एडमिरलों और कई महान लोगों से भरपूर मदद मिली।’’ उन्होंने प्रभावी दवा की पहचान करने और इसे लोगों के लिए उपलब्ध कराने की प्रक्रिया को अमेरिकी इतिहास में सबसे बड़े गतिशील कार्यों में से एक के रूप में वर्णित किया।

उन्होंने कहा, ‘‘‘ऑपरेशन वार्प स्पीड’ अप्रतिम और बेजोड़ है, ऐसा दुनिया में कहीं भी नहीं है। कई देशों के नेताओं ने मुझे बधाई दी है कि हम जो कर पाए हैं और हमने कई देशों की मदद की है। कई देशों में वेंटिलेटर की कमी समेत कई समस्याएं थीं, हमने उन्हें मदद की। और, मैं इस प्रयास में शामिल सभी लोगों को बधाई देना चाहता हूं। यह एक अविश्वसनीय प्रयास रहा है।’’ ट्रंप प्रशासन ने कोविड-19 के उपचार और उसके टीका के विकास, निर्माण और वितरण के लिए सार्वजनिक-निजी भागीदारी को आधिकारिक तौर पर ‘ऑपरेशन वार्प स्पीड’ करार दिया है।

उन्होंने कहा कि ‘ऑपरेशन वार्प स्पीड’ के फलस्वरूप फार्मास्युटिकल कंपनी फाइजर ने सोमवार को घोषणा की कि उसका टीका 90 फीसदी से अधिक प्रभावी है।

ट्रंप ने कई बार चीन को दुनिया के अन्य हिस्सों में कोरोना वायरस फैलाने के लिए जिम्मेदार ठहराया है।

उन्होंने कहा, ‘‘यह (फाइजर का नवीनतम टीका) अब तक की सभी अपेक्षाओं से आगे है। किसी ने नहीं सोचा था कि वे उस स्तर तक पहुंचेंगे।’’

अमेरिका में अब तक कोरोना वायरस के एक करोड़ से अधिक मामले आ चुके हैं और 2,44,302 लोगों की मौत हुई है।