इंदौर में भारी बारिश ने तोड़ा 39 साल का रिकॉर्ड, कई इलाकों में पानी भरा

इंदौर,   मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी कहे जाने वाले इंदौर में पिछले 24 घंटे से जारी भारी बारिश ने शनिवार को 39 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। लगातार भारी बारिश से शहर के कई इलाकों में पानी भर गया और जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया।

मौसम विभाग के वैज्ञानिक अमितेश यादव ने बताया कि शुक्रवार सुबह 08:30 बजे से शनिवार सुबह 08:30 बजे के बीच शहर में 263.4 मिलीमीटर (10.37 इंच) बारिश दर्ज की गयी।

उन्होंने बताया, “शहर में इससे पहले 10 अगस्त 1981 को 24 घंटे के अंतराल में 212.6 मिलीमीटर (8.37 इंच) बारिश दर्ज की गयी थी। यह रिकॉर्ड अब ध्वस्त हो गया है।” भारी बारिश के मद्देनजर प्रशासन और पुलिस के आला अफसरों ने शनिवार तड़के से मैदान संभाला और निचली बस्तियों में फंसे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का सिलसिला शुरू किया गया।

शइर के कई इलाकों के लोग अपने घरों में बारिश का पानी भर जाने की तस्वीरें सोशल मीडिया पर डाल रहे हैं। शहर की अधिकांश प्रमुख सड़कों के जलमग्न होने से यातायात बुरी तरह प्रभावित हुआ।

रीगल चौराहा स्थित पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) कार्यालय के परिसर में भी पानी भरा देखा गया।

चश्मदीदों ने बताया कि भारी बारिश के बाद शासकीय महाराजा यशवंतराव चिकित्सालय (एमवायएच) के तलघर के दो वॉर्डों में पानी भर गया। एमवायएच, प्रदेश के सबसे बड़े सरकारी अस्पतालों में से एक है।

एमवायएच के अधीक्षक पीएस ठाकुर ने बताया, “तलघर स्थित सहारा वॉर्ड (बेसहारा मरीजों के वॉर्ड) और जेल वॉर्ड (कैदियों के वॉर्ड) में पानी भर जाने के बाद इनमें भर्ती मरीजों को अस्पताल की चौथी मंजिल पर स्थानांतरित किया गया है।”