गेंद को चमकाने के लिये पीठ के पसीने का उपयोग कर रहे हैं इंग्लैंड के गेंदबाज

साउथम्पटन,   कोरोना वायरस महामारी के कारण गेंद पर लार लगाने की अनुमति नहीं है और ऐसे में इंग्लैंड के गेंदबाज वेस्टइंडीज के खिलाफ चल रहे पहले टेस्ट क्रिकेट मैच में पीठ के पसीने से गेंद को चमका रहे हैं।

एजिस बॉउल में चल रहे पहले टेस्ट मैच से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की जैव सुरक्षित वातावरण में वापसी हुई है। कोविड-19 महामारी के कारण मार्च से ही सभी तरह की खेल गतिविधियां ठप्प पड़ी थी।

इंग्लैंड के तेज गेंदबाज मार्क वुड ने दूसरे दिन का खेल समाप्त होने के बाद कहा, ‘‘लार पर प्रतिबंध लगने के बाद अब पीठ का पसीना अहम बन गया है। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘केवल अपना पसीना हालांकि हम गेंद पर आपस में थोड़ा पसीना मिला रहे हैं। मुझे कुछ जिम्मी (एंडरसन) और जोफ्रा (आर्चर) से मिला। ’’

इंग्लैंड के लिये दूसरे दिन का खेल निराशाजनक रहा। वेस्टइंडीज ने उसकी टीम को पहली पारी में 204 रन पर आउट कर दिया और वुड ने स्वीकार किया कि वे अब तक मैच में अपना सर्वश्रेष्ठ नहीं दे पाये हैं।

वुड ने कहा, ‘‘हमारे लिये यह अच्छा दिन नहीं रहा इसलिए काफी कुछ करने की जरूरत है। मैं कुछ विकेट लेना चाहूंगा। उन्होंने बहुत अच्छी गेंदबाजी की और उन्हें श्रेय मिलना चाहिए लेकिन 204 हमारा लक्ष्य नहीं था। हम 250 या 300 का स्कोर पसंद करते। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘गेंदबाजी में हमें शुरू से ही लय नहीं मिली। उन्होंने शुरू से अच्छी लाइन व लेंथ से गेंदबाजी की। ’’