डॉ. मोहन बैरागी को मिला अंतरराष्ट्रीय संपादक अवार्ड

उज्जैन। डॉ. मोहन बैरागी के लगातार उच्च शिक्षा शोध पर कार्य करने तथा करीब एक हजार से ज्यादा शोध पत्रों का संपादन करने हेतु वर्ष 2020-2021 के लिए मोस्ट प्रेस्टिजियस अंतरराष्ट्रीय अवार्ड दिया गया है। डॉ. मोहन बैरागी द्वारा उच्च शिक्षा शोध के मानकों के आधार पर अंतरअनुशासनिक विषयों के विभिन्न शोध पत्रों का संपादन गत वर्षों में किया गया है। जिनमें भारत के उच्चतम संस्था युजीसी के द्वारा अनुमोदित मानकों को विशेष ध्यान रखा गया तथा परिशोधन व परिष्कृत कर शोधपत्रों को संपादित कर अभ्यर्थियों को उपलब्ध करावाया गया है। यह अवार्ड इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ आर्गनाइ्ज्ड रिसर्च द्वारा दिया गया। यह संस्था भारत सरकार के मिनिस्ट्री ऑफ माईक्रो, स्माल एण्ड मिडियम इंटरप्राईज़ेस पंजीकृत है, जो उच्च शिक्षा के विभिन्न क्षेत्रों में कार्य कर रहें अभ्यर्थियों के करियर एडवांसमेंट तथा गुणवत्ता के आधार पर अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान करती है। संस्था के ज्युरी मेंबर द्वारा परिक्षण व एनालिटिकल व्यू के पश्चात क्वालिटि बेसड् इन पुरस्कारों को दिया जाता है। डॉ. मोहन बैरागी की इस उपलब्धी पर सभी इष्ट मित्रों ने बधाई व शुभकामनाएं दी।