संन्यास शब्द का प्रयोग नहीं करना चाहता क्योंकि आप तो युवा हैं : प्रधानमंत्री

नयी दिल्ली,   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आस्ट्रेलिया के खिलाफ अहमदाबाद में 2011 विश्व कप क्वार्टर फाइनल के दौरान सुरेश रैना के शानदार कवर ड्राइव अभी भी याद है और उनका मानना है कि इस हरफनमौला के असंख्य प्रशंसकों कोउस की कमी खलेगी ।

रैना ने 15 अगस्त को महेंद्र सिंह धोनी के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के कुछ मिनट बाद ही खुद भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया । दोनों धुरंधर और अभिन्न मित्र अब चेन्नई सुपर किंग्स के लिये इंडियन प्रीमियर लीग में खेलेंगे ।

धोनी को प्रशंसा पत्र लिखने के बाद मोदी ने रैना को दो पन्ने का पत्र लिखकर कहा ,‘‘ मैं संन्यास शब्द का इस्तेमाल नहीं करना चाहता क्योंकि आप को काफी युवा और ऊर्जावान हैं ।’’

उन्होंने लिखा ,‘‘आपके क्रिकेट कैरियर में कई बार चोटों के कारण आपको नाकामी झेलनी पड़ी लेकिन आप हर बार उन चुनौतियों से निखरकर आये ।’’

रैना ने प्रधानमंत्री को धन्यवाद देते हुए ट्वीट किया ,‘‘ जब हम खेलते हैं तो देश के लिये खून पसीना देते हैं । देशवासियों से मिले प्यार और देश के प्रधानमंत्री से मिले इस प्यार से बड़ी कोई प्रशंसा नहीं । धन्यवाद नरेंद्र मोदी जी आपकी प्रशंसा और शुभकामनाओं के लिये ।’’

मोदी ने पत्र में लिखा कि उन्होंने मोटेरा में 2011 विश्व कप क्वार्टर फाइनल में आस्ट्रेलिया के खिलाफ रैना की 34 रन की नाबाद पारी का पूरा मजा लिया था ।

उन्होंने लिखा ,‘‘ भारत 2011 विश्व कप में आपकी प्रेरणास्पद भूमिका को नहीं भुला सकता । मैने मोटेरा स्टेडियम में आस्ट्रेलिया के खिलाफ क्वार्टर फाइनल में आपको पारी के सूत्रधार की भूमिका निभाते देखा ।’’

मोदी ने कहा ,‘‘ मैं पूरे विश्वास के साथ कह सकता हूं कि प्रशंसकों को आपके कवर ड्राइव्स की कमी खलेगी जो मैने उस दिन देखे ।’’

मोदी उस समय गुजरात के मुख्यमंत्री थे । उन्होंने रैना को परिपक्व ‘टीम मैन’ बताया जो दूसरों की सफलता का जश्न मनाता था ।

उन्होंने लिखा ,‘‘ सुरेश रैना हमेशा टीम भावना के लिये याद किये जायेंगे । आपके निजी रिकार्ड के लिये नहीं बल्कि टीम के और देश के गौरव के लिये खेला ।’’

उन्होंने लिखा ,‘‘ टीम पर आपको उत्साह प्रेरणास्पद था और हमने देखा है कि विरोधी टीम का विकेट गिरने पर सबसे पहले आप ही जश्न मनाते थे ।’’

मोदी ने कहा ,‘‘ एक बल्लेबाज के तौर पर आप सभी प्रारूपों खासकर टी20 में बखूबी ढले हुए थे । यह आसान प्रारूप नहीं है ।’’

उन्होंने कहा ,‘‘ इसमें काफी चुस्ती फुर्ती की जरूरत होती है । आपकी रफ्तार और चुस्ती टीम के लिये काफी काम आती रही है ।’’

प्रधानमंत्री ने उनके चुस्त क्षेत्ररक्षण की तारीफ करते हुए कहा ,‘‘ आपकी फील्डिंग शानदार और मिसाल रही । अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कुछ बेहतरीन कैच आपने लपके । चुस्त क्षेत्ररक्षण से आपने कई रन बचाये ।’’

उन्होंने स्वच्छ भारत अभियान और महिला सशक्तिकरण में योगदान के लिये भी रैना की सराहना की ।