अफगानिस्तान से अंतर्राष्ट्रीय शक्तियों को हटाने में जल्दबाजी न करें: इमरान खान

इस्लामाबाद,  । पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अफगानिस्तान से विदेशी शक्तियों को हटाने में जल्दबाजी करने के खिलाफ चेतावनी दी है।

एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने शनिवार को द वाशिंगटन पोस्ट में प्रकाशित हुए एक ओपिनियन में खान के हवाले से लिखा गया है, “अफगान शांति प्रक्रिया से जुड़े देशों को जल्दबाजी में वहां से अंतर्राष्ट्रीय शक्तियों को हटाने का विरोध करना चाहिए। ऐसा करना नासमझी होगी।”

 

उन्होंने कहा, “हमें उन लोगों से भी बचना चाहिए जो क्षेत्र की शांति बिगाड़ते हैं और अपने जियो-पॉलिटिकल हितों को पूरा करने के लिए अफगानिस्तान में अस्थिरता को फायदेमंद मानते हैं।”

खान ने 12 सितंबर को अफगानिस्तान सरकार और तालिबानी प्रतिनिधियों के बीच दोहा में हुई बातचीत को याद करते हुए कहा कि अफगानिस्तान और पूरे क्षेत्र के लिए उम्मीद का दुर्लभ क्षण आ गया है।

उन्होंने कहा कि, “दशकों के संघर्ष में पाकिस्तान ने 40 लाख से अधिक अफगान शरणार्थियों की देखभाल की। इस दौरान हमारे देश में बंदूकें और ड्रग्स भी बहाए गए। युद्धों ने हमारे आर्थिक पक्ष पर असर डाला है। केवल अफगान-स्वामित्व और अफगान के नेतृत्व वाली सुलह प्रक्रिया ही वहां स्थायी शांति ला सकती है।”