अमेरिका-चीन की दुश्मनी के बीच सागर विवाद पर चर्चा

हनोई (वियतनाम),   दक्षिणपूर्वी एशिया के शीर्ष राजनयिक वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बुधवार को अपनी वार्षिक वार्ता कर रहे हैं जिसमें कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के कारण आए अत्यधिक संकट और अमेरिका तथा बीजिंग के बीच बढ़ती दुश्मनी के बीच दक्षिण चीन सागर में बढ़ते तनाव पर चर्चा की जाएगी।

दक्षिणूर्वी एशियाई राष्ट्रों का संगठन (आसियान) की मंत्रीस्तरीय बैठकों में एक माह की देरी हुई है और कोविड-19 के कारण जारी स्वास्थ्य जोखिमों की वजह से ऑनलाइन इनका आयोजन हो रहा है। 10 राष्ट्रों वाले गुट के विदेश मंत्री अमेरिका और चीन समेत एशियाई एवं पश्चिमी समकक्षों से इस हफ्ते के अंत में वार्ता के लिए मुलाकात करेंगे।

वियतनाम में जहां संक्रमण के मामले नये सिरे से बढ़ रहे हैं, वही इस समूह के इस वर्ष के अध्यक्ष के तौर पर वह वार्ता की मेजबानी कर रहा है। प्रधानमंत्री एनगुएन जुआन फुक ने राजधानी हनोई में विपरीत परिस्थितियों में हुए साधारण से उद्घाटन समारोह के बीच क्षेत्रीय एकजुटता का आह्वान किया। यह समारोह कुछ राजनियकों की मौजूदगी में हुआ।

फुक ने कहा, “हमारे सहयोग के बहुमूल्य परिणाम की अभूतपूर्व चुनौतियों एवं अस्थिरता से भरे वातावरण खासकर कोविड-19 वैश्विक महामारी काल में, परीक्षा ली जा रही है।”

उन्होंने कहा, “दक्षिण चीन सागर समेत क्षेत्रीय भूराजनीतिक और भूआर्थिक परिदृश्य अस्थिरताओं का सामना कर रहे हैं जो शांति एवं स्थिरता को खतरे में डालती हैं।”

वैश्विक महामारी ने आसियान बैठकों की पहचान माने जाने वाले रंगारंग कार्यक्रम, दर्जनों बैठकें, सामूहिक रूप से हाथ मिलाने तथा तस्वीरें लिए जाने के कार्यक्रम टाल दिए या नहीं होने दिए।