कोरोना वायरस: मध्य प्रदेश में धीमी हुई मरीजों के दोगुना होने की दर

भोपाल,   मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि प्रदेश में कोरोना वायरस के मरीजों के स्वस्थ होने की दर बेहतर होने के कारण इसके मरीजों की संख्या दोगुनी होने की गति धीमी होकर अब 21 दिन हो गयी है, जो राष्ट्रीय औसत से बेहतर है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोविड-19 के बड़ी संख्या में मरीज उपचार के बाद ठीक होकर अपने घर वापस जा रहे हैं।

प्रदेश सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री चौहान ने मंगलवार को प्रदेश में कोरोना वायरस संबंधी स्थिति की समीक्षा की।

बैठक में बताया गया कि प्रदेश में इस बीमारी के मरीजों के स्वस्थ होने की दर अब बढ़कर 53 प्रतिशत हो गया है जबकि इसका राष्ट्रीय औसत 41.8 प्रतिशत है।

चौहान ने बताया कि प्रदेश में मरीजों की संख्या दोगुनी होने की गति धीमी होकर अब 21 दिन हो गयी है, जबकि राष्ट्रीय स्तर पर यह संख्या औसतन 15.4 दिन में दोगुनी हो रही है।

मध्यप्रदेश में कोविड-19 से सबसे बुरी तरह प्रभावित इन्दौर जिले की समीक्षा के दौरान इन्दौर जिलाधिकारी ने बताया कि इंदौर में सघन सर्वेक्षण तथा जांच के माध्यम से मरीजों का जल्द पता लगाए जाने से मृत्यु दर में उल्लेखनीय कमी आ रही है।

इंदौर में कोरोना वायरस से मरने वाले लोगों की दर 3.6 है, जबकि मध्यप्रदेश में यह दर 4.1 प्रतिशत और भारत में यह दर 2.6 प्रतिशत है। गत सप्ताह इंदौर में मृत्यु दर 1.08 प्रतिशत रही। इन्दौर में कोरोना वायरस से मरीजों की संख्या दोगुनी होने की दर 30 दिन हो गई है।

समीक्षा बैठक में बताया गया कि इंदौर में 500 बिस्तर की क्षमता का सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल बन रहा है, जो 15 जून के आस-पास कार्य करना प्रारंभ कर देगा।