कैपिटल हिल की हिंसा ट्रंप की ‘लोकतंत्र की अवहेलना’ का नतीजा : बाइडन

वाशिंगटन,   कैपिटल हिल (संसद भवन) में डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों के हमले को अमेरिका के इतिहास का ‘काला दिन’ बताते हुए नव निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि ट्रंप द्वारा ‘‘लोकतंत्र की अवहेलना’’ के कारण हिंसा की घटना हुई।

बाइडन ने डेलावेयर विलमिंगटन में बृहस्पतिवार को संवाददाताओं से कहा कि कैपिटल हिल में उत्पात की घटना कोई असहमति, या विरोध प्रदर्शन नहीं बल्कि अराजकता थी।

उन्होंने कहा, ‘‘वे प्रदर्शनकारी नहीं थे। उन्हें प्रदर्शनकारी मत कहिए। वे दंगाई भीड़ थे, वे देश के आतंकी थे। काश मैं यह कह पाता कि हमने यह सब नहीं देखा, लेकिन यह सच नहीं है। हमने उन्हें आते हुए देखा।’’

बाइडन ने कहा, ‘‘पिछले चार साल से हमारे यहां ऐसे राष्ट्रपति हैं जिन्होंने हमारे लोकतंत्र, हमारे संविधान, कानून के शासन की अवहेलना की।’’ बाइडन ने तीखा हमला करते हुए कहा कि ट्रंप ने उनकी सत्ता पर सवाल उठाने वाले मुक्त प्रेस पर भी लगातार निशाना साधा, उन्हें लोगों का दुश्मन बताया।

नवनिर्वाचित राष्ट्रपति बाइडन ने कहा, ‘‘ट्रंप को ऐसा लगता था कि वह अदालत में अपने मित्र न्यायाधीशों की बदौलत जीत जाएंगे लेकिन उन्हें तब धक्का लगा जब उन्हीं के द्वारा नियुक्त न्यायाधीशों ने उनकी चुनौती को खारिज कर दिया।’’

बाइडन ने कहा कि न्यायपालिका ने हर अवसर पर अपना काम पूरी निष्ठा के साथ बखूबी किया और निष्पक्षता बरती।