बांग्लादेश में हुई हिंसा की घटना में 26 पुलिसकर्मी घायल

ढाका,  । बांग्लादेश में मुस्लिम कट्टरपंथी गुट हिफाजत-ए-इस्लाम के समर्थकों द्वारा किए गए हमले में यहां के कम से कम 26 पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं।

ब्राह्मणपुरिया के सराइल उपजिला में शनिवार को इन समर्थकों ने अरूएल पुलिस शिविर को अपना निशाना बनाया। इसके अलावा, फरीदपुर जिले के भांगा में स्थित एक पुलिस स्टेशन पर भी उपद्रवियों द्वारा हमला किया गया।

बांग्लादेश में पिछले कुछ दिनों से राजधानी ढाका सहित देश के कुछ अन्य हिस्सों में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं।

जमात-उल-मुजाहिदीन के हिफाजत समर्थकों के नेतृत्व में हजारों की संख्या में इस्लामवादियों द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे के खिलाफ राजधानी ढाका सहित चट्टोग्राम, ब्राह्मणबाड़िया व अन्य इलाकों में शुक्रवार को दोपहर की नमाज अदाज करने के बाद विरोध प्रदर्शन किए गए।

इनके द्वारा विरोध प्रदर्शन किए जाने से पहले ही पलटन, गुलिस्तान और बैतुल मुकर्रम मस्जिद क्षेत्रों में बड़ी संख्या में पुलिस और बीजीबी की तैनाती कर दी गई थी। इलाकों में सुरक्षा और बढ़ा दी गई थी।

शनिवार को अरूएल पुलिस कैम्प पर हमला दोपहर के करीब 3.30 बजे हुआ। घायल पुलिसकर्मियों में सराइल पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर (जांच) कबीर हुसैन भी शामिल हैं।

पुलिस और स्थानीय लोगों के अनुसार, अरूएल बाजार में दोपहर 2 बजे हजारों की संख्या में मदरसे के छात्रों ने स्थानीय लोगों के साथ मिलकर रैली निकाली। इसका नेतृत्व मौलाना अबू ताहेर, हुसैन अहमद, महमूदुर राशेद और ओलीउल्लाह किया।

फरीदपुर जिले के भांगा में पुलिस स्टेशन के मेन गेट सहित दो पुलिस मोटरसाइकिलों में तोड़फोड़ की गई। यहां पुलिस के साथ-साथ बीजीबी और आरएबी को तैनात कर सुरक्षा उपायों को बढ़ा दिया गया है।

हिफाजत के उग्रवादी नेताओं ने शनिवार को इस बात की चेतावनी दी थी कि मोदी विरोधी प्रचारकों पर किए गए हमलों के विरोध में रविवार को आयोजित किए जा रहे हड़ताल में अगर सरकार बाधा डालने की कोशिश करती है, तो और भी अधिक संख्या में प्रदर्शन किए जाएंगे।

शनिवार को ढाका में बैतुल मोकरम मस्जिद के सामने एक विरोध प्रदर्शन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कट्टरपंथी इस्लामवादियों ने धमकी दी कि किसी भी अप्रिय स्थिति के मामले में सरकार को ही जिम्मेदार ठहराया जाएगा।

शुक्रवार रात को राजधानी के पुराण पल्टन में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में हिफाजत-ए-इस्लाम के नायब-अमीर अब्दुर रब यूसुफी ने शनिवार को एक देशव्यापी प्रदर्शन और रविवार सुबह हड़ताल का आह्वान किया।