हादसे के शिकार लड़के की तस्वीरें खींचते रहे लोग, लड़के की मौत

कोप्पल :कर्नाटक:,  इंसानियत को शर्मसार करने वाली एक और घटना में सड़क दुर्घटना के शिकार खून से लथपथ एक 18 वर्षीय लड़के की मदद के लिए कोई भी आगे नहीं आया अलबत्ता लोग उसकी तस्वीरें खींचते रहे। बाद में लड़के की मौत हो गई।

कैमरे पर दर्ज इस घटना में लड़का लगभग 25 मिनट तक दर्द में तड़पता दिख रहा है। जिसके बाद उसे नजदीकी अस्पताल ले जाया गया।

वायरल हुए इस वीडियो फुटेज में खून से लथपथ लड़का मदद की गुहार लगाता दिख रहा है इस बीच किसी ने उसे पानी दिया।

घटना कल सुबह की है जब अनवर अली साइकिल से उस बाजार की ओर जा रहा था जहां वह काम करता था।

पुलिस ने बताया कि होसपेट से हुबली जा रही राज्य परिवहन की एक बस उसे टक्कर मारकर निकल गई। उसे एक एंबुलेंस से नजदीकी अस्पताल ले जाया गया।

अली के भाई रियाज ने बताया कि दिन में लगभग डेढ़ बजे उसकी मौत हो गई। उसने कहा, ‘‘कोई भी मदद को आगे नहीं आया, वे वीडियो बना रहे थे और तस्वीरें खींच रहे थे। किसी ने जरा भी कोशिश की होती तो मेरे भाई को बचाया जा सकता था। वहां 15 से 20 मिनट की देरी हो गई।’’ पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया, ‘‘घटनास्थल पर मौजूद लोग सदमे में थे, वह समझ नहीं पा रहे थे कि बुरी तरह घायल लड़के की वह किसी तरह मदद करें। उसका खून तेजी से बह रहा था।’’ हाल ही में मैसूर में हुई इसी तरह की एक घटना में एक 38 वर्षीय पुलिस अधिकारी की समय पर मदद ना मिलने के कारण मौत हो गई थी।

कर्नाटक में हादसे के पीड़ित लोगों को मदद देने वालों के लिए गुड समेरिटन कानून है।