शीतकालीन सत्र के पहले दिन लोकसभा में पूछे जाने वाले प्रमुख प्रश्न

नई दिल्ली, संसद का शीतकालीन सत्र सोमवार को शुरू हो गया है। ऐसे में लोकसभा में सरकार से बहुत सारे सवाल पूछे जाने हैं। इनमें से अर्थव्यवस्था, कॉरपोरेट मामले, संस्कृति और जनजातीय मामले, अर्थव्यवस्था में सुस्ती और बैंकों के विलय से संबंधित प्रश्न पूछे जाने हैं। यहां कुछ प्रमुख प्रश्नों का उल्लेख किया जा रहा है, जो सोमवार को सूचीबद्ध हैं।

पहला प्रश्न : सुरेश नारायण जीडीपी से संबंधित सवाल पूछेंगे। इसमें अप्रैल-जून तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद(जीडीपी) पांच प्रतिशत हो जाने पर और निवेश बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कदमों पर सवाल पूछे जाएंगे।

 

दूसरा प्रश्न : एन.के. प्रेमचंद्रन अर्थव्यवस्था पर कई प्रश्न पूछेंगे। इसमें से प्रमुख हैं कि क्या सरकार ने देश में आर्थिक सुस्ती के कारणों की समीक्षा की है। इसके अलावा वह आर्थिक सुस्ती की वजह से जीएसटी पर प्रभाव और विदेश व्यापार समझौते को लागू करने के प्रभाव को लेकर अध्ययन कराने पर सवाल पूछेंगे।

तीसरा सवाल : अन्नपूर्णा देवी भ्रष्टाचार के बारे में सवाल पूछेंगी। वह पूछना चाहती हैं कि क्या तीन वर्षो के कार्यकाल में राष्ट्रीकृत बैंकों से ऋण वितरण मामले में किसी अधिकारी के खिलाफ कोई कार्रवाई हुई है।

चौथा सवाल : झारखंड में जहां विधानसभा चुनाव की प्रक्रिश शुरू हैं, विष्णु दयन का प्रश्न राज्य से इसी जुड़ा हुआ है। वह जानना चाहते हैं कि क्या सरकार झारखंड में स्वदेश दर्शन परियोजना के अलावा कोई नया पर्यटन सर्किट विकसित कर रही है।

 

पांचवा प्रश्न : उमेश यादव जनजातीय मामले से संबंधित प्रश्न पूछना चाहते हैं। वह जानना चाहते हैं कि क्या सरकार जनजातीय लोगों के कल्याण के लिए बजट में वृद्धि कर रही है।

छठा प्रश्न : सुमेधानंद सरस्वती जानना चाहते हैं कि क्या सरकार की देश के सभी शहरों में प्राकृतिक गैस की पाईप से आपूर्ति करने की योजना प्रस्तावित है।

हालांकि यह देखना होगा कि सदन में कितने प्रश्न पूछे जा सकते हैं और कितने प्रश्नों पर चर्चा हो सकती है।