विश्वास नहीं हो रहा कि मैं मुक्त हूं : फारूक अब्दुल्ला

श्रीनगर,  जम्मू एवं कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के वरिष्ठ नेता फारूक अब्दुल्ला ने शुक्रवार को कहा कि आंख की सर्जरी से उबरने के बाद वह अगले दो हफ्ते में संसद में अपनी उपस्थिति दर्ज कराएंगे। अब्दुल्ला बीते वर्ष पांच अगस्त को अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से हिरासत में थे। हिरासत से रिहाई के बाद उन्होंने मीडिया से रूबरू होते हुए यह बात कही।

अब्दुल्ला ने कहा, “मैं विश्वास नहीं कर पा रहा हूं कि मैं मुक्त हूं। मैं उम्मीद करता हूं कि अन्य सभी लोगों को भी रिहा कर दिया जाएगा। अगर मुझे अनुमति दी गई तो मैं संसद जाऊंगा। एकबार वहां जाने के बाद, मैं कश्मीर के लोगों द्वारा सामना किए जाने वाली समस्याओं को उठाऊंगा।”

इसके साथ ही अब्दुल्ला ने अपने साथ खड़े और उनकी रिहाई की मांग करने वाले लोगों का शुक्रिया अदा किया।

उन्होंने लोक सुरक्षा अधिनियम(पीएसए) हटाए जाने के कुछ दिन पहले आंख की छोटी सर्जरी कराई थी। पूर्व मुख्यमंत्री ने गुपकर रोड स्थित अपने आवास पर मीडियाकर्मियों से मुलाकात की। उन्हें हिरासत में रखने के लिए इस जगह को उप-जेल में तब्दील कर दिया गया था। उनके साथ इस अवसर पर पत्नी मॉली अब्दुल्ला, बेटी सारा अब्दुल्ला पायलट मौजूद थीं।