वित्त वर्ष 2017-18 के आम बजट की मुख्य बातें

नयी दिल्ली, एक फरवरी :भाषा: वित्त मंत्री अरण जेटली द्वारा आज पेश वित्त वर्ष 2017-18 के आम बजट की मुख्य बातें इस प्रकार हैं.. ..2.5 लाख से 5 लाख रपये की सालाना आय पर कर की दर 10 से घटाकर 5 प्रतिशत की गई। कर स्लैब में बदलाव नहीं।

..50 लाख रपये से एक करोड़ रपये सालाना कमाने वाले लोगांे को देना होगा 10 प्रतिशत का अधिभार।

..एक करोड़ रपये से अधिक की वाषिर्क आय पर 15 प्रतिशत का अधिभार जारी रहेगा।

..तीन लाख रपये से अधिक के नकद लेनदेन पर प्रतिबंध।

..50 करोड़ रपये तक के कारोबार वाली लघु एवं मझोले उपक्रमांे पर कॉरपोरेट कर की दर घटाकर 25 प्रतिशत की गई। 96 प्रतिशत कंपनियांे को लाभ होगा।

..एलएनजी पर सीमा शुल्क घटाकर आधा यानी ढाई प्रतिशत किया गया।

..अगले वित्त वर्ष में राजकोषीय घाटा 3.2 प्रतिशत रहने का अनुमान। 2018-19 में इसे 3 प्रतिशत पर रखने का लक्ष्य।

..राजनीतिक दल 2,000 रपये से अधिक का नकद चंदा नहीं ले पाएंगे। वे चेक, इलेक्ट्रानिक तरीके से चंदा ले सकेंगे। रिजर्व बैंक इलेक्टोरल बांड जारी करेगा।

.वरिष्ठ नागरिकांे के लिए आधार आधारित स्वास्थ्य कार्ड। उनके लिए आठ प्रतिशत गारंटी वाले रिटर्न की योजना।

..विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड :एफआईपीबी: को समाप्त किया जाएगा। एफडीआई नीति और उदार होगी।

..सीपीएसई की सूचीबद्धता के लिए समयबद्ध प्रक्रिया।

..रेलवे के पीएसयू आईआरसीटीसी, आईआरएफसी तथा इरकॉन सूचीबद्ध होंगी।