महिला उत्पीड़न के खिलाफ दुनियाभर में हजारों लोगों ने रैली निकाली

पेरिस,  महिलाओं के खिलाफ हिंसा उन्मूलन अंतरराष्ट्रीय दिवस के मौके पर दुनियाभर में लाखों लोगों ने रैली निकाली। इस मौके पर फ्रांस ने घरेलू हिंसा से निपटने के लिए नए कदमों की घोषणा की।

ग्वाटेमाला, रूस, सूडान और तुर्की जैसे देशों में भी सोमवार को प्रदर्शनकारी एकत्र हुए।

तुर्की के इस्तांबुल में दंगा निरोधी पुलिस ने करीब दो हजार प्रदर्शनकारियों का रास्ता रोका और उसके बाद उन पर आंसू गैस के गोले छोड़े। प्रदर्शनकारियों को तितर बितर करने के लिए पुलिस ने प्लास्टिक की गोलियां भी चलाई।

फ्रांस की सरकार ने घोषणा की कि वह चिकित्सकों के लिए हिंसा के लिहाज से संवेदनशील महिलाओं के बारे में जानकारी साझा करने को सुगम बनाएगी और मनोवैज्ञानिक धोखाधड़ी की अवधारणा को कानून में शामिल करेगी।

संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक वर्ष 2017 में दुनियाभर में अनुमानित 87,000 महिलाओं और लड़कियों की हत्या हुई।

संरा ने चेतावनी दी है कि दुनियाभर में इस दिशा में और कदम उठाए जाने की जरूरत है। उसने कहा कि अफगानिस्तान एक ऐसा देश है जहां यौन हिंसा और बलात्कार से निपटने की दिशा में बहुत कम काम हुआ है।

इस दिवस पर एफिल टॉवर की बत्तियां एक मिनट के लिए बंद की गई।