पर्यटकों के लिए आकर्षण का केन्द्र बन गई है कभी खिलाड़ियों के जान की आफत बनी थाईलैंड की गुफा

मेई साई (थाईलैंड)  फुटबॉल टीम ‘वाइल्ड बोअर्स’ की जान बचाने वाले गोताखोर की कांस्य की मूर्ति पर्यटकों के लिए आकर्षण का केन्द्र बन गई है और कभी खिलाड़ियों की जान की आफत बनी गुफा अब पर्यटन स्थल में तब्दील हो गई है।

खिलाड़ियों की जान बचाने की कोशिश करते हुए गोताखोर समन गुआन की मौत हो गई थी।

थाईलैंड की थाम लुआंग गुफा 23 जून 2018 को उस समय चर्चा में आई, जब बाढ़ का पानी भर जाने के कारण फुटबॉल टीम के 11 से 16 वर्ष की आयु के 12 खिलाड़ी और उनके कोच उसके अंदर फंस गए।

आज यह गुफा पर्यटकों के लिए आकर्षण का केन्द्र बन गई है, एक साल के भीतर यहां करीब 5,000 पर्यटक आ चुके हैं।

साइट प्रबंधक कैवी प्रसोमफोल ने ‘एएफपी’ से कहा कि विदेशी पर्यटकों की नजरों से हमेशा दूर रहे मेई साई जिले में अक्टूबर 2018 से अप्रैल 2019 के बीच 13 लाख लोगों आए हैं। गुफा इसी जिले में स्थित है।

कैवी ने कहा कि सरकार की गुफा को लेकर बड़ी योजनाएं हैं। राष्ट्रीय उद्यान के बाहर कैम्पिंग की जगह, शॉपिंग परिसर, रेस्तरां, होटल आदि के निर्माण के लिए पांच करोड़ भात आवंटित किया गया है।

पर्यटक जॉन मेकगोवन ने ‘एएफपी’ से कहा, ‘‘ जो हुआ वह कमाल था। मैंने ऑस्ट्रेलिया में सारी खबरें देखीं थी। मैं इसे अपनी आंखों से देखना चाहता था।’’

कुछ डॉलर में ही पर्यटक साइट पर फ्रेम की गईं तस्वीरें, फुटबॉलरों के पोस्टर ले सकते हैं। ऐसी टी-शर्टें भी यहां मौजूद हैं, जिनपर गोताखोर समन गुआन का चहरा बना है।