देशहित को ध्यान में रखते हुए प्रवासी मजदूर अपने गांवों के लिए नहीं निकलें : केजरीवाल

नयी दिल्ली, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को प्रवासी मजदूरों से अपील की कि वे 21 दिनों के लिए लागू लॉकडाउन (बंदी) के दौरान देशहित को ध्यान में रखते हुए अपने राज्यों या गांवों के लिए नहीं निकलें।

ट्विटर पर केजरीवाल ने प्रवासी मजदूरों से कहा कि वह जहां भी हैं, वहीं रहें क्योंकि भीड़ इकट्ठा होने से कोरोना वायरस फैलने का खतरा बढ़ सकता है।

लॉकडाउन के दौरान उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड के हजारों प्रवासी मजदूर अपने घरों को वापस लौटना शुरू हो गए हैं।

केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी लोगों से अपील की है कि वे जहां हैं, वहीं रहें। मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि दिल्ली सरकार ने आपके रहने और खाने का पूरा इंतजाम किया हुआ है। अभी देश के हित में है कि आप अपने गांव नहीं जाएं।’

राष्ट्रीय राजधानी में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण के 49 मामले सामने आए हैं।

केजरीवाल ने कहा, ‘ मैं आप (प्रवासी मजदूरों) सभी से अपील करता हूं कि अपने गांव नहीं जाएं। जहां हैं, वहीं रहें क्योंकि भीड़ एकत्र करने से कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा बढ़ जाएगा और फिर आपके जरिए कोरोना आपके गांव और परिवार तक पहुंच जाएगा। उसके बाद देश को महामारी से बचाना मुश्किल होगा।’