दुनिया को भारत की अहिंसा और करुणा की प्राचीन शिक्षा की जरूरत : दलाई लामा

नयी दिल्ली,  तिब्बत के आध्यात्मिक नेता दलाई लामा ने कहा कि दुनिया को आज भारत की अहिंसा और करुणा की प्राचीन परंपरा की जरूरत है क्योंकि लोग धर्म के आधार पर और देश क्षेत्रीय विवादों के आधार पर आपस में लड़ रहे हैं।

उन्होंने कहा कि भारत को आधुनिक शिक्षा के साथ-साथ उच्च नैतिकता की अपनी 3,000 साल पुरानी शिक्षा को भी जारी रखना चाहिए।

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड स्टडी की ओर से आयोजित कार्यक्रम में दलाई लामा एस राधाकृष्णन स्मारक व्याख्यान दे रहे थे। इस व्याख्यान का विषय सार्वभौमिक नैतिकता था।