‘तीन तलाक’ समेत विवादित मुद्दे उठाने वाली भाजपा पर कार्रवाई करे : कांग्रेस

लखनऊ,(भाषा): कांग्रेस ने ‘तीन तलाक’ के ‘विवादित’ मुद्दे को भाजपा के चुनाव घोषणापत्र में शामिल किये जाने पर आपत्ति जाहिर करते हुए आज चुनाव आयोग और उच्चतम न्यायालय से इसके खिलाफ कार्रवाई का आग्रह किया।

कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और पार्टी की उत्तर प्रदेश इकाई के प्रभारी गुलाम नबी आजाद ने पार्टी का चुनाव घोषणापत्र जारी किये जाने के बाद संवाददाताओं से बातचीत में भाजपा द्वारा तीन तलाक को चुनावी मुद्दा बनाने सम्बन्धी सवाल पर कहा कि भाजपा राज्य विधानसभा चुनाव में ध्रुवीकरण के लिये विवादित मुद्दों को उठा रही है।

उन्होंने कहा कि भाजपा ने अपने चुनाव घोषणापत्र में तीन तलाक और राम मंदिर के मुद्दों को शामिल किया है। ये दोनों ही मामले उच्चतम न्यायालय में लम्बित हैं, लिहाजा कांग्रेस को इस पर आपत्ति है। पार्टी की मांग है कि चुनाव आयोग और उच्चतम न्यायालय इस मामले का संज्ञान लेकर भाजपा के खिलाफ कार्रवाई करें।

तीन तलाक के मुद्दे पर रुख स्पष्ट करने की भाजपा की मांग पर आजाद ने कहा कि कांग्रेस इनचुनाव में किसी भी ‘विवादित’ मुद्दे पर कोई टिप्पणी नहीं करेगी।प्रदेश में सपा के साथ गठबंधन करके चुनाव लडऩे के बावजूद 10 से ज्यादा सीटों पर दोनों ही पार्टियों के प्रत्याशी खड़े होने के औचित्य के सवाल पर आजाद ने कहा कि बीच में ऐसा लगा था कि कांग्रेस और सपा का गठबंधन नहीं हो पाएगा। इसी बीच नामांकन की प्रक्रिया भी शुरू हो गयी। कई जगहों पर सपा प्रत्याशी नामांकन वापस करना चाहते थे, लेकिन अनिश्चितता की वजह से ऐसा नहीं हो सका।

उन्होंने कहा कि तीन-चार दिन में स्थितियां बिल्कुल ठीक कर ली जाएंगी। जिन सीटों पर सपा और कांग्रेस दोनों के ही प्रत्याशी मैदान में हैं, वहां गठबंधन के घोषित प्रत्याशी के पक्ष में दोनों ही पार्टियों के नेता प्रचार कर रहे हैं।