तमिलनाडु की राजनीतिक हलचल अन्ना द्रमुक का आंतरिक मामला:राजनाथ

नयी दिल्ली, (वार्ता): केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज कहा कि तमिलनाडु का राजनीतिक घटनाक्रम और श्रीमति वी शशिकला के नये मुख्यमंत्री बनने के विरोध जैसी घटनायें अखिल भारतीय अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कषगम(अन्ना द्रमुक) का आंतरिक मामला है और केंदर तथा भारतीय जनता पार्टी का इससे कोई लेना देना नहीं है।

श्री सिंह ने एक टीवी चैनल को बताया,”यह अन्ना द्रमुक का आंतरिक मामला है,हमारा इससे कोई लेना देना नहीं है और न ही इस घटनाक्रम पर कुछ कहना है।” श्री सिंह ने एक सवाल के जवाब में स्पष्ट किया कि ऐसे मामलों में अंतिम निर्णय लेने के लिये केवल राज्यपाल को ही संवैधानिक शक्तियां हासिल है।

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा,”मेरा काम राज्यपाल को टेलीफोन करके उन्हें कुछ बताना नहीं है,आप ने इस मुख्यमंत्री को शपथ दिलायी है या आपने उस मुख्यमंत्री को शपथ नहीं दिलायी है। ऐसा कोई भी सवाल नहीं उठता है।” गौरतलब है कि एक राजनीतिक घटनाक्रम में तमिलनाडु के कार्यवाहक मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम ने कहा है कि उन्हें इस्तीफा देने के लिये मजबूर किया गया है ताकि श्रीमति शशिकला के पार्टी विधायक दल का नेता चुने जाने का मार्ग प्रशस्त हो सके।

इस बीच भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के सांसद डी राजा ने कहा है कि सुश्री जे जयललिता के निधन के बाद राज्य में राजनीतिक शून्य पैदा हो गया है और अब राज्य में जो राजनीतिक उथल पुथल मची हुयी है भाजपा को इस स्थिति का फायदा नहीं उठाना चाहिये।