जंगल आग: अभियान में जुटा विमान दुर्घटनाग्रस्त, तीन अमेरिकियों की मौत

सिडनी, ऑस्ट्रेलिया के सिडनी शहर के दक्षिण-पश्चिम में जंगलों में लगी आग को काबू करने के अभियान में जुटा एक विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया, जिससे विमान में सवार चालक दल के तीन अमेरिकी कर्मियों की मौत हो गई।

‘न्यू साउथ वेल्स रूरल फायर सर्विस’ के आयुक्त शेन फीट्जसीमोन्स ने बताया कि स्थानीय समयानुसार बुधवार देर रात डेढ़ बजे अधिकारियों का कनाडा के सी -130 हरक्यूलिस विमान से सम्पर्क टूट गया था, जो स्नोई मोनारो क्षेत्र में तैनात था।

फीट्जसीमोन्स ने बताया कि विमान में सवार तीनों चालक दल के सदस्य मारे गए, वे सभी अमेरिकी नागरिक थे।

उन्होंने कहा, ‘‘कई दशकों तक अग्निशमन और अग्नि प्रबंधन में अपनी उल्लेखनीय सेवाएं देने वाले इन तीन सदस्यों के शोकसंतप्त परिवार के साथ हमारी संवेदनाए हैं।’’

इसके साथ ही सितम्बर से लगी इस आग के कारण मारे गए लोगों की संख्या बढ़कर कम से कम 32 हो गई है।

दुर्घटना का कारण अभी पता नहीं चल पाया है, लेकिन फीट्जसीमोन्स ने पहले कहा था कि तेज हवाएं चलने के कारण बड़े टैंकर वाले विमानों को उड़ने में ‘‘बेहद परेशानी’’ आ रही है।

फीट्जसीमोन्स ने बताया कि कनाडाई कम्पनी ‘कूलसन एविएशन’ ने जांच लंबित होने तक न्यू साउथ वेल्स और विक्टोरिया शहर में बड़े टैंकर वाले अपने विमानों की सेवाएं रोक दी हैं।

दुर्घटनाग्रस्त हुआ विमान ‘कूलसन एविएशन’ कम्पनी का ही था।

इस बीच, राजधानी कैनबरा के पास जंगलों में लगी आग पर काबू पाने के काम में जुटे विमानों को रास्ता देने के लिए गुरुवार को शहर के हवाईअड्डे को बंद कर दिया गया।

पूर्वी ऑस्ट्रेलिया के कई इलाकों में गुरुवार को तेज हवाओं और बढ़ते तापमान के कारण आग की लपटें एक बार फिर बढ़ गईं, जबकि पिछले कुछ दिनों से यहां राहत के साथ स्थिति बेहतर होने की उम्मीद थी।

कैनबरा हवाईअड्डे की प्रवक्ता ने बताया कि ऑस्ट्रेलिया की राजधानी से आने और जाने वाली उड़ानें करीब आधी रात (अंतरराष्ट्रीय समयानुसार एक बजे) को निलंबित कर दी गईं ताकि ‘‘ अभियान (आग पर काबू पाने के) में जुटे विमानों को रास्ता दिया जा सके।’’

उन्होंने बताया कि सेवाएं कब तक निलंबित रहेंगी, यह अभी स्पष्ट नहीं है।